Baap Beti Sex Story | Family Sex Story

Baap Beti Antarvasna Kahani; पापा की गन्दी सचाई! Part-1 😖😖

23 साल की रिंकी पटना की रहने वाली है। उसके बेरोजगार पापा हर सुबह बाहर निकल जाते और घंटो बाद घर आकर सीधा नहाने चले जाते। ये देख रिंकी को ऐसा लगने लगा की उसके पिता बाहर कुछ गलत काम करने जाते है। एक दिन जब उसने पापा का पीछे किया तो उसे अपने पापा की गन्दी सचाई पता लगी। उसने देखा की पापा हर दिन गली की जमादारनी के साथ गाड़ी में उछल कूद करते है। ये देख रिंकी हैरान हो गई पर अंदर ही अंदर वो कामुक भी हो रही थी।


मेरा नाम रिंकी है मैं 23 साल की पटना की रहने वाली लड़की हूँ। मेरी मम्मी पूरा घर खुद चलती है पर पापा बेरोजगार है। मेरा कोई भाई या बहन नहीं है और मैं एक गरीब परिवार से हूँ। सब कुछ मेरे पिता जी की वजह से है। वो बेरोजगार है और उन्हें हर तरह की गन्दी लत लगी हुई है जैसे दारू, जुटा, सिगरेट आदि। माँ और मैं काफी परेशां रहते है। कुछ ही महीनो पहले उन्होंने जुआ खेलना भी शुरू कर दिया जिस वजह से घर का आधा पैसा तो जैसे ही पानी की तरह बह गया।

बहन की चोदी चुत और निकाल दिया मूत भाग-1

पापा ने मुझ से कई बार वादे भी किए की “मैं ये सब छोड़ दुगा बेटी। अब से सारा पैसा तेरी पढाई में लगेगा” पर आज तक ऐसा नहीं हुआ। मेरा कॉलेज पूरा हो गया था और मुझे समज नहीं आ रहा था की अब क्या किया जाए। मेरे पापा मेरी शादी करवा कर मुझ छुड़वाना चाहते थे पर मम्मी ने ऐसा होने नहीं दिया।

तो बस कुछ महीने मैं घर बैठी रही और इंटरनेट में लगी रही। दोस्तों आपसे दरख्वास्त है की मेरी पापा की सेक्स कहानी को पूरा पढ़ना ताकि आपको पूरा आनंद आए।

(देखते ही देखते रिंकी को अपने पापा पर शक होने लगा। उसके पिता हर दिन करीब 11 बजे बाहर जाते और 1 बजे के करीब घर आकर सीधा नहाने चले जाते।)

मेरे पापा घर आते ही नहाने चले जाते। यहाँ तक की वो अपने कपडे भी खुद ही धोते। ये सब देख मुझे काफी अजीब लगने लगा। एक दिन जब वो घर आए तो मैंने उनकी कमीं और गर्दन पर लाल निशान देखे।

दूर से देखते ही मैं समज गई की वो लिपस्टिक के निशान है। मुझे लगा की अब आप बाहर जाकर अलग अलग रंडिया चोदने लगे है। बस ये समज नहीं आ रहा था की उनके पास रंडी को देने के लिए पैसे कहा से आ रहे है।

रिंकी – पापा आप हर दिन कहा जाए है?

पापा – बेटा वो कुछ काम है बस।

रिंकी – तो क्या आप बेरोजगार नहीं रहे ?

पापा (गुस्से में) – तू ये सब क्यों पूछ रही है ? और तू कब तक घर बैठी रहेगी ?

(रिंकी ने उस वक्त कुछ नहीं कहा पर अगले दिन वो अपने पिता के पीछे पीछे चली गई।)

मैं अगले दिन पीछे पीछे गई तो देखा पापा किसी गाड़ी में बैठे और धीरे धीरे चलाते हुए घर से करीब 10 किलोमीटर दूर चले गए। मैंने भी हार नहीं मानी और अपनी किसी दोस्त की स्कूटी लेकर उनके पीछे चली गई।

घोड़ी बना कर अपनी माँ को चोदा

आगे देखा तो मैं हैरान रह गई। जो औरत हमारी गली में हर सुबह झाड़ू लगाया करती है वो पापा की गाड़ी में जाकर बेथ गई। जिसका मतलब ये था की मेरे पापा गन्दी जमादारनी की चुदाई करते थे

इसके बाद पापा ने गाड़ी भगाई और किसी सुनसान बिल्डिंग की कार पार्किंग के अंदर चले गए। मैंने भी जल्दी से अपनी स्कूटी बाहर खड़ी की और अंदर जाकर देखने लगी।

अंदर देखा तो पापा ने गाड़ी बंद की और यहाँ वह देख कर जमादारनी को होठो पर चूमने लगे। वो जमादारनी आनंद लेते हुए चूमा चाटी कर रही थी। मैं गाड़ी सामने गई और वहा से उनकी वीडियो बनाने लगी ताकि मम्मी को देखा पाउ।

papa ne jmadarni ko choda kahani

पापा ने जमादारनी को चूमा और अपने एक हाथ को उसके ब्लाउज में घुसा दिया और चूचिया दबाते हुए आनंद से गन्दी गन्दी आवाजे निकालने लगे। दूसरी तरफ जमादारनी ने भी अपना हाथ आगे बढ़ाया और उनकी पैंट में घुसा दिया।

मुझे नीचे का कुछ नहीं दिख रहा था पर जिस तरह से वो अपना हाथ जोर जोर से हिला रही थी उस से साफ पता लग रहा था की उसके हाथ में पापा का लिंग है।

पापा की चुदाई देख मेरी चुत गीली! 😥🎗

पता नहीं क्यों उन्हें देख मैं भी सेक्सी फील करने लगी और अपनी जीन्स के ऊपर से चुत पर हाथ फेरने लगी। पापा ने जमादारनी की चूचिया खूब जमकर दबाई और उसके बाद उसके गले पर चूमने लगे।

जमादारनी की सासे फूलने लगी और वो आंखे बंद कर पापा के होठो का आनंद लेने लगी। वो एक हाथ से पापा का लिंग हिलती रही तो दूसरे से उसने गाड़ी की खिड़की आधी खोल दी ताकि ताजी हवा अंदर आ सके।

सुंदर बहन को चोदा और बीवी बनाया

इसके के साथ मुझे उनकी अश्लील बाते भी सुनाई देने लगी। मेरे गंदे और देसी पापा चुदाई करने को बेताब थे। वो गन्दी और गहरी सासे लेते हुए जमादारनी के जिस्म को चाटे जा रहे थे। ऐसा रूप देख मुझे काफी डर लगने लगा।

पापा को इस तरह देख मुझे वो दिन याद आ गया जब मैंने और मम्मी ने उन्हें रँगे हाथ एक छोटी लड़की की चुत की चुदाई करते पकड़ लिया था।  अब ये सब देख मुझे काफी गंदा लग रहा था पर मेरी भी सेक्स करने की इच्छा हो रही थी।

पापा – अहह आज तो तुम्ही खूब चुसुगा जानेमन !!

जमादारनी – अह्ह्ह अहह !! अह्ह्ह !! तुम कभी थकते नहीं हो क्या !!

पापा – उम् उम्म्म्म !! तेरा जिस्म देख मेरा लंड चूहे से शेर और गोटिया गोटा बन जाती है।

जमादारनी – कितनी गन्दी जबान है तुम्हारी !!

पापा – चुपचाप मजे ले अब !! कोई आ गया तो फिरसे झगड़ा हो जाएगा !!

जमादारनी – उतारू सलवार ??

पापा – हाँ हाँ जल्दी कर !!

(रिंकी के पिता को न तो कोई शर्म थी न लिहाज उन्हें जहा मौका मिला जमादारनी को वही चोदने चूसने लग गए पर रिंकी भी कम नहीं थी। अपने पिता को चुदाई करता देख वो भी पागल हुए जा रही थी। वो एक हाथ से उनकी वीडियो उतार रही थी तो दूसरे से अपनी गीली कच्छी में योनी सेहला रही थी।)

पापा ने चुत जमादारनी की चाटी तो पानी मेरा निकल गया!

जमादारनी ने जल्दी से पानी सलवार निकली एक टांग पापा की तरफ रख अपनी चुत फैला कर बैठ गई। पिता जी ने बड़े गौर से योनी देखी और अचानक उसकर जोर से थूक कर उसे चाटने लगे।

जमादारनी – अहह अहह अहह उह्ह्ह !! हाँ डार्लिंग !! अह्ह्ह !!

पापा – हम्म्म्म ममम उउउउ ममम उउउ ममम उउउ ममम अह्ह्ह !!! अह्ह्ह !!

जमादारनी – अहह अहह अहह !! उम् और चाटो और ऊपर से भी चुसो !!

पापा – क्या बात है आज तुम बड़ी जल्दी गीली हो गई !!

(अपने पिता को किसी और औरत की योनी खता देख रिंकी भी अपनी चुत में उनलगी डालने लगी।)

पापा उस औरत की चुत चाटने लगे और मैं दूर उन्हें देखती रही। जमादारनी की सासे तेज होने लगी और उसकी अश्लील आवाजे गाड़ी से बाहर तक सुनाई देने लगी। पापा जमकर उनकी चुत चाट रहे थे। वो बार बार उसपर थूकते और खुद ही चुत चाटकर साफ करने लगते। उसके बाद जमादारनी से पापा को रोका और उसनहे पीछे कर अपना सर नीचे झुका कर उनका लिंग मुँह में लेने लगी।

जैसे ही जमादारनी ने लिंग मुँह में लिए पापा ने अपने दोनों हाथ से उसका सर पकड़ा और जोर जोर से अपनी कमर हिला कर उनका मुँह चोदने लगे। इस तरह पूरी गाड़ी हिलने लगी और दूर से कोई भी देख के बता सकता था की यहाँ क्या चल रहा है।

जमादारनी – अह्ह्ह अहह मममम अह्ह्ह अम्म्म !!!

पापा – अहह और चुत रंडी !! बहन की लावड़ी !! अहह मादरचोद !!!! और चूस !!! टोपा सुकजा दे !!! अहह !!

जमादारनी – अहह ममम हम्म्म हम्म्म ममम उम्म्म अह्ह्ह अम्म्म महह्ह्ह्ह !!!

पापा – अह्ह्ह सफ्फफ्फ्फ़ मममम अह्ह्ह !! अह्ह्ह !! रंडी साली !!!

पापा जोर जोर से जमदानी के मुँह को चौदे जा रहे थे और मेरा भी उनका लिंग चूसने का मन होने लगा। पर मैं वही खड़ी अपनी जीन्स का बटन खोली और अंदर हाथ डालकर गीली कच्ची में अपनी चुत रगड़ने लगी।

खड़े खड़े मेरी जंघे कप रही थी और लिंग चूसने का सपना देख मेरे मुँह से पानी टपकने लगा। मेरी चूचिया टाइट थी जिन्हे मैं बरी बरी से दबाई जा रही थी।

पापा से छुप कर माँ की चुदाई! 🤫🤫🤭

उन्हें देख मुझे काफी आनंद आ रहा था तो मैं चुपके से नीचे बैठी और उन्हें देखते हुए अपनी चुत में ऊँगली करती रही। गाड़ी जिस तरह से हिल रही थी उसे देख मेरी योनी फूल कर लाल हो चुकी थी।

लिंग चुसवाने के बाद पापा ने जमादारनी को नंगा किया और अपने ऊपर बैठने को कहा। जमादारनी ने अपना सारा कुछ उतारा और पापा के लिंग पर बैठ गई और उन्हें चूमते हुए लंड पर कूदने लगी। जमादारनी अपनी बड़ी से गांड से पापा के लिंग को चोदे जा रही थी और दोनों गन्दी आवाजे निकालते हुए सेक्स का पूरा आनंद ले रहे थे।


दोस्तों ये मेरी हॉट अन्तर्वासना कहानी का पहला भाग है दूसरा भाग  पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लाल लिंक पर क्लिक करे और कहानी का दूसरा भाग पढ़े। 

पापा की गन्दी सचाई! Part-2

[email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts

20 Comments

  1. रिंकी के पापा काफी हरामी है सही जुगाड़ मना रखा है। मैं भी अपने यहाँ की एक प्रेस वाले की लड़की फसा रखा हूँ। महीने एक दो बार उसको उसी के झोपड़े में चोद कर आता हूँ।

  2. bada ling, jangli mard or kafi sara paisa bs yahi chahiye ek aurat ko. pyar wyar sb maa chudaye. koi amir ladka hai jo mujh se baat krne ke liye taiyar ho. apna number dedo 2000rs lugi ek baar ka.

  3. dosto jo bhi ladki apni chut chudwana chahti hai wo mujhe bs ek baar mail bhej kr dekhe. agr delhi se ho to mujhe mail bhejo. oyo book krne ki jimedari meri or baat hm dono ke bech hee rahegi.

    [email protected]

      1. Khushi reply dedo mail pr sorry hmne jyada ganda bol diya. i love you agr maaf kr diya toh apna number dedena acha.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *