Aunty Sex Story | Bhabhi Sex Story | Desi Sex Story | Group Sex Story | Hindi Sex Stories | XXX Stories

देसी भिखारी के साथ चोदा चोदी

मैंने एक भरी फूली सेक्सी औरत को एक फटीचर भिखारी के साथ के साथ चुदाई करते देखा। करीब आधी रात के वक्त मैं अपने कॉल सेंटर से घर जा रहा था तभी मुझे सड़क के किनारे झोपडी में सेक्सी आवाजे आने लगी। दोस्तों मेरा नाम आकाश है और मैं पुने का रहने वाला 25 साल का लड़का हूँ। 

मेरी कहानी बिल्कुल सीधी सी है मैं अपने ऑफिस से आधी रात को घर जा रहा था। क्यों की मैं रात को कॉल सेंटर में काम करता हूँ इसलिए मुझे आधी आधी रात तक बाहर रहना पड़ता है। कभी कभी तो इस बात का मैं फायदा भी उठा लेता हूँ। 

मैं घर पर बोलता हूँ की ऑफिस जा रहा हूँ और बाहर जाकर रंडीबाजी करता हूँ। पर उस दिन मेरी तबियत थोड़ी खराब थी जिस वजह से मैं कारबी रात के 2:30 बजे वापस घर के लिए निकल गया। मैं धीरे धीरे आराम से ठंडी हवा खाते हुए अपनी बाइक चला कर घर जा रहा था। तभी मुझे चुदाई के धको की सेक्सी आवाज आने लगी। 

मैंने बाइक रोक कर यहाँ वहा देखा तो मुझे बगल में एक झोपडी दिखी। वहा से किसी आदमी की घराने की गन्दी आवाज आ रही थी और कोई औरत हल्की हल्की आवाज निकाल रही और चुदाई के धको की तो काफी तेज आवाज थी। 

देखने पर साफ पता लग रहा था की कोई लड़की या औरत देसी भिखारी के साथ चोदा चोदी कर रही है। ऐसी आवाज देख मेरी तबियत लोडा लसन सब ठीक हो गया और मैं बाइक वही रोक कर झुगी के पास जाने लगा। 

बस दोस्तों यही से मेरी antarvasna kahani का सेक्सी भाग शुरू होता है। मैं कोने से झुकी के अंदर देखने लगा। अंदर देखा तो काफी भरी फूली औरत उस भिखारी के ऊपर बैठी थी और वो गन्दा भिखारी अपना पूरा दम लगा कर उसकी चुत मार रहा था। 

वो औरत भिखारी के मुँह को अपने स्तनों के बीच दबा कर उसके ऊपर लेती थी और नीचे भिखारी अपनी कमर जोर जोर से मार कर उस औरत की चुत चोद रहा था। 

दिखने में वो औरत काफी कामुक और सेक्सी भाभी जैसी थी। उसके उतरी हुई साड़ी काफी महंगी थी और उसका जमीन पर पड़ा बटुआ भी काफी अच्छा था। इस तरह मैं समज गया की ये औरत न तो भिखारी की पत्नी है और ही कुछ रिश्ते ले लगती है। 

पर वो भिखारी  उसे ऐसी चोद रहा था जैसी वो उसकी ही हो। वैसे भी हर भिखारी फ्री के माल का पूरा पूरा आनंद लेते है। वो अपने काले और गंदे हाथो से उसकी कमर पकड़ा हुआ था और बार बार औरत की गांड को भी दबा रहा था। 

आगे क्या चल रहा है ये तो नहीं पता और न ही मैं उस महान औरत का चेहरा देख पाया पर मैं ये जरूर बता सकता हूँ की वो उसके स्तनों को दबा कर चूस रहा था। 

मुझे जोरदार चुसो की आवाज आ रही थी जो वो भिखारी अपने होठो से उस औरत के स्तनों पर मार रहा था। 

उस औरत के स्तन काफी बड़े और गोल गोल थे। इसी औरत का नंगा शरीर मैंने पहली बार देखा था। भरा फुला बदन, नरम और गोल थन, साथ ही साथ सेक्सी और बड़े बड़े चूतड़। 

वो पतला और कमजोर सा भिकारी अपना पूरा दम लगा रहा था और औरत को जबरदस्त चोद रहा था। मैं बाहर से उन्हें देखता रहा और अपने लंड को पैंट के ऊपर से सहलाता रहा। 

देखते ही देखते उस औरत की सासे तेज होती गई और भिकारी जोर जोर से हाफ्ता हुआ अपनी कमर औरत की गांड पर मारता रहा। 

कुछ देर बाद जब वो थक गया और उसने औरत को चटाई पर टेहड़ा लेटाया और उसकी जांघो को अपनी छाती से चिपका कर उसकी चुत पर धके लगाने लगा। 

वो ठंडी और सतख जमीं पर उस औरत को चोद रहा था और उसे इस बात की कोई शर्म नहीं थी। उसके काले लंड से वो औरत आनंद के अलग ही सागर में डूबती जा रही थी। 

औरत का शरीर कभी कापता तो कभी तड़पने लगता। ऐसी चुदाई देख मेरा भी चुत मारने का दिल करने लग गया। मेरे दिमाग में एक बात भी आई की क्यों न मैं इस भिखारी को मार कूट कर यहाँ से भगा दू और फिर औरत की चुदाई मैं करू तो कैसे रहेगा।

पर नहीं मैंने ऐसा नहीं किया क्यों की क्या पता मुझे उस औरत से सेक्स की कोई बीमारी हो जाती तो। वो भिखारी काफी गंदा था और उसके शरीर से बदबू भी आ रही थी। वो अपने मुँह से उसके स्तन चूसा अपने हाथो से उसके शरीर को दबाया और सहलाया साथ ही साथ उसने अपने गले हुए लंड से उस हॉट औरत की चुत भी मारी। 

इसके बाद मैंने फैसला किया की अब मुझे ेहि मुठ मार लेनी चाहिए। मैंने अपने लंड को पैंट की जीप से निकाला और उसे हिलाता हुआ देसी भिखारी के साथ चोदा चोदी करती औरत को देखता रहा। 

उस औरत का शरीर गोरा चिटा था और उसकी जाँघे काफी सेक्सी और मोटी ताजी थी। वो भिखारी मजे से उसके चूतड़ों पर अपनी कमर मार मार कर चुत चोद रहा था। उसके हाथ तो रुक ही नहीं रहे थी वो बार बार औरत की जांघो को सेहला रहा था और उसके स्तनों को जोर जोर से दबा रहा था। 

भिखारी की हवस देख उस औरत की चुत से पानी निकालने लगा और वो चीख चीख कर थक गई पर भिखारी नहीं रुका और न ही वो थका। 

तेज हफ्ता भिकारी औरत वो पीठ के बल लेटाया और उसके उसकी टंगे खोल कर चुत चाटने लगा। 

वो हर वो गन्दी चीज़ उस औरत के शरीर के साथ कर रहा था जो मैं करना चाहता था। वो औरत उसकी अश्लील हरकतों से और कामुक और उत्तेजित हो रही थी। 

वो उसकी चुत को चाट चाट कर चूसने लगा और औरत चिलाने लगी। 

औरत – अहह अह्ह्ह अह्ह्ह्हह उह्ह्ह !!

भिखारी – हम्म्म अहह हम्म्म सरपपप उह्ह्ह !!!

भिखारी चुत के रस से अपना पेट भरने लगा और अपनी हवस की भूख को मिटाने लगा। देखते ही पता लग रहा था की उसने सालो से कभी चुदाई नहीं की थी और आज जब उसे मौका मिला तो वो रुकना नहीं चाहता। 

इसके बाद उसके वापस अपने लंड को चुत के अंदर घुसाया और अपने कूल्हे हिला हिला कर चुत मारने लगा।   

इसी वक्त भिखारी के लंड से चोदने से औरत की चुत तेज पानी की धार छोड़ने लगी और भाकरी के लंड को बाहर निकाल फेंकी। चुत का पानी तेज धार की तरह निकलने लगा और भिखारी चुत के ऊपर मुँह कर के उसका रस अपने मुँह में लेने लगा। 

देखते ही देखते उसका मुँह भर गया और उसने एक घुट अपने गले से नीचे उतार ली। चुत चोदने के बाद वो काफी थक गया था और उसने चुत के पानी से ही अपनी प्यास बुझाई। 

बस औरत को कुश करने के बाद वो अपने लंड से फिर चुत मारने लगा। उसने बिना रुके जोर जोर से अपनी कमर जांघो के बीच मरी और पूरा आनंद लिया। बस उसके बाद मैं भी नहीं रुक पाया और मैंने वही अपना लंड झाड़ दिया पर भिकारी फिर भी चोदता रहा। 

उसने अपने झाटो भरे काले गोटे चुत पर मार मार कर अपने पानी को छोड़ दिया। भिखारी अचानक से कापने लगा। उसकी कमर और दोनों पैर थरथराने लगे और बस ये देख मैं समज गया की इसने झाड़ दिया। 

लंड झाड़े के बाद वो कुछ देर औरत के ऊपर लेटा रहा और औरत भी आराम करने लगी।  

पर वो रुका नहीं उसकी हवस की आग अभी भी जल रही थी। वो धीरे धीरे औरत के पेट को अपने हाथ से सेहला रहा था और अपने मुँह से औरत की नरम छाती को चूस रहा था। 

बस देसी भिखारी के साथ चोदा चोदी देखते देखते सुबह के 4 बज गए और वो दोनों एक दूसरे के गले लग कर सो गए और मैं भी वहा से घर जाकर सो गया।

Similar Posts