Bhai Behan Sex Story | Desi Sex Story | Family Sex Story | First Time Sex Story | Hindi Sex Stories | XXX Stories

सुंदर बहन को चोदा और बीवी बनाया 👭👭😋

लेखक ने अपनी कहानी में बताया की कैसे उसने अपनी बहन की चुदाई की और उसे अपनी बीवी का दर्जा दिया। कहानी लेखक ने काफी सचाई से लिखी है जिसे पढ़कर आपको जरूर आनंद आएगा। उसकी बहन का कामुक और दूधिया छाती आपको जरूर मजा देगी।


हेल्लो दोस्तों इस कहानी में मैं आपको बताने जा रहा हूँ कैसे मैंने अपनी बहन को चोदा और बीवी बनाया। मेरी ये कहानी आज से करीब 4 साल पहले की है जब मैंने और मेरी बहन ने ये कांड किया था। दोस्तों जब बात लंड पर बन आती है तो कुछ भी हो सकता है और कुछ ऐसा ही मेरे साथ हुआ। 

ये उस वक्त की बात है जब मेरी उम्र 24 साल थी और मेरी बहन की 22 थी। हम उत्तर प्रदेश के एक छोटे इलाके में रहते थे जो काफी पिछड़ा हुआ था। 

वहा न कोई सुंदर लड़की रहती थी न कोई सेक्सी भाभी जिसे पटा कर मैं अपनी हवस मिटा सकू। मैं बस इंटरनेट पर गन्दी वीडियो देख अपनी चुदाई की इच्छा को शांत करता। और कभी कभी तो मुझे हिंदी सेक्स स्टोरीज से भी काम चलाना पड़ता था। 

मेरी सूंदर बहन का नाम सुमन था और उसका हाल भी मेरी तरह ही था वो भी चुदाई को लेकर बेताब रहती थी क्यों की मैंने उसे कई बार फ़ोन पर गन्दी गन्दी बाते करते पकड़ लिए था। 

वो इंटरनेट पर अनजान लड़को से दोस्ती कर उनके साथ फ़ोन पर पता नहीं किसी किसी अश्लील बाते किया करती। 

(लेखक की बहन हर रात इंटरनेट पर अनजान के साथ सेक्स करती और उनके साथ मुठिया भी मारा करती।)

अब एक दिन क्या हुआ हमारे पुरे परिवार को पडोसी की शादी पर जाना था पर सिर्फ घर में मेरी बहन ने ही मना कर दिया। 

तो हम सब रात को निकल पड़े और उसे घर छोड़ दिया। तभी मेरे देसी पापा के दिमाग में पता नहीं गया आया उसने मुझे कहा ” बेटा जवान लड़की को इतनी रात घर अकेला नहीं छोड़ना चाहिए एक काम करो तुम भी घर वापस चले जाओ। “

अब बाप की बात को मैं मना तो कर नहीं कसता था मैं वापस घर चला गया। मैंने घर का दरवाजा कोला और अंदर चला गया। मैंने जोर जोर से चिलाय सुमन !! सुमन पर उसका कुछ अत पता नहीं चला। 

सुंदर बहन को चोदा और लंड भी चुसवाया

मैं बैडरूम में गया तो देखा वो मजे से दोनों कानो में हेडफोन्स लगा और अपनी सलवार में हाथ डाले लेती थी। उसका पूरा ध्यान फ़ोन में चलती गन्दी फिल्म पर था और कानो में चुदाई की आवाज के अलावा कुछ नहीं था। 

जब तो वो अपना हाथ हिला रही थी तो उसकी चुत से फच फच की अश्लील आवाज निकल रही थी जिसे सुनकर मेरा तो लंड तन गया। 

चुदाई का पूरा आनंद ले रही थी और मैं उसकी खूबसूरती से अपना लंड खड़ा कर इसे हिला रहा था।

धीरे धीरे बहन का हाथ तेज चलने लगा मुझे पता नहीं लग रहा था की वो चुत के अंदर ऊँगली कर रही है या ऊपर ऊपर से ही मजे ले रही है। धीरे धीरे मेरे अंदर भी गर्मी बढ़ने लगी और मैं अपनी बहन को चोदने का सोचने लगा। 

जब बहन का मामला और गर्म हुआ तो वो अपनी सलवार पूरी खोलने के लिए अचानक से ऊपर उठी और उसकी पहली नजर मुझ पर पड़ गई। 

मुझे देख वो वही थम गई तो मैं भी उसे देखता रहा और लंड हिलाता रहा। बहन कभी नीचे मेरा लिंग देखती तो कभी मेरा मुँह। 

उसी वक्त मैंने ये बात अपने दिमाग में बैठा ली की मुझे अपनी सुंदर बहन की चुदाई करनी है।

मुझे कुछ देर देखने के बाद वो बोली ” बेशर्म कितना ठरकी है तू ? ” उसकी इस बात का जवाब मैंने दिया ” मैं तो हूँ ही और मेरी बहन भी है। “

इसके बाद हम दोनों अपनी हसी रोक न सके और हसने लगे। हस्ते हस्ते मैं अंदर गया और उसकी सेक्सी जांघो और हाथ फेरने लगा। 

कुछ देर में ही बहन की हसी सिसकियों में बदल गई। सुमन ने मेरी गर्दन पर हाथ रखा और दूसरे हाथ से मेरा लंड हिलाना शुरू कर दिया। उसी वक्त मैंने अपनी बहन को बीवी बनाया था। 

उसके लंड पकड़ते ही मेरी सासे धीमी और गहरी होने लगी कसम से ऐसा एश्सास मुझे कभी नहीं हुआ था। मजा और दुगना करने के लिए मैंने अपना हाथ उसकी चुत पर रखा और उसे घिसने लगा।

सुमन उसी वक्त किसी और दुनिया में जा पहुंची और उसने मेरा लिंग प्यार से हिलाना शुरू कर दिया।

(लेखक की बहन उसे होठो पर चूमने लगी और लेखक उसकी चुत को हल्के हाथ से रगड़ता रहा। उसकी बहन की बड़ी हैरानी के साथ उसका लंड हिलाती रही और उसके टाइट करने में लगी रही।)

उस वक्त मुझे लगा की अब मौका मिला है असली सेक्स करने का तो मैं मुठ क्यों मरवाऊ ?

मैंने सुमन का हाथ लंड से हटाया और उसे बिस्तर पर लेटा कर अपना लिंग अंदर घुसाने लगा।  

सुमन ने एक बार न कहा और मैंने तभी अपना लंड अंदर घुसा डाला। लंड की रगड़ ने उसे इतना आराम दिया की वो और जा नहीं कह पाई। मैं मजे से उसके अंदर बाहर अपना खम्बा डालता रहा और उसे मजे एते रहे। 

धोड़ी देर की चुदाई के बाद मैंने उसकी ब्रा खोली और उसके नरम थनो में अपना मुँह देते हुआ उसे चोदता रहा। मैं धीरे धीरे अपनी कमर हिला रहा था और वो भी आराम से सेक्सी आवाजे निकल रही थो।

मैं उस वक्त का पूरा मजा ले रहा था क्युकी घर वाले बाहर थे और उन्हें आने में देरी होने वाली थी। 

सुमन को मैंने अपनी बाहो में जकड़ रखा था और उसे अपनी भारी लंड से चोद रहा था। पहली चुदाई की कारण मेरे लंड में थोड़ा दर्द होने लगा जिसका मुझे कोई अंदाजा नहीं था। 

मैं सुखी चुदाई की वजह से अपनी रफ़्तार नहीं बड़ा पा रहा था तभी सुमन ने पास पड़ी सरसो के तेल की बोतल उठाई जिसे वो अपने बालो पर लगती थे। 

उसने अपने हाथ पर तेल लिया और अपनी चुत पर हल्के हाथ से थपड मारने लगे। तेल वाले हाथो के झापड़ से सुमन की योनि चिकनी और मस्त हो गई। 

मैं उसे देख मुस्कराया और उसके अंदर अपना लंड घुसा कर उसे फिर चोदने लगा। 

हम दोनों का नीचे का मामला काफी गन्दा हो चूका था और हमारी सासे गर्म हवा और कोमल आवाजे निकाल रही थी। हम दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया और हम मजे से एक दूसरे को चोदते रहे। 

सुमन बिस्तर र पैर खोल कर लेती थी और मैं उसकी चुत के अंदर अपना लंड डाल कर अपने टटो से उसकी पिटाई कर रहा था। मेरी मकर अपने आप जोर जोर से हिल रही थी और सुमन के शरीर पर जोर से धके पेल रही थी। 

लंड चिकना होने की वजह से मैं उसे तेजी से चोद पा रहा था और सुमन मेरी आँखों में देख सेक्सी आवाजे निकाले जा रही थी। मेरे चूसने के कारण उसके दोनों निप्पल खड़े हो गए थे और सुमन उन्हें बार बार खींच रही थी।

उसके बड़े बड़े दूध मेरे हाथो में थे जिमे में पड़े प्यार से दबा रहा था। उस वक्त सुमन चुदाई की एक अलग दुनिया में जा चुकी थी और मैं उसके शरीर से निकलने वाले हर एक तरल को चाट रहा था। 

मैंने धीरे धीरे चुदाई का पूरा मजा लिया और एक घटने बाद मैंने सुमन की चुत की ताबड़ तोड़ चुदाई शुरू कर डाली। 

रात 12 बजे हमारे घर वाले वह से निकलने वाले थे इसलिए मैंने जल्दी जल्दी चुदाई शुरू जड़ डाली। 

मैं अब तक अपना लंड का माल अंदर ही रोक कर किसी तरह चुदाई कर रहा था पर अब नही। 

उसी वक्त बहन के अंदर भी जोश भर गया और उसने मुझे धका देखर अपनी जगह लेटा दिया और मेरी ऊपर बैठ कर अपनी गांड उछालने लगी।

तो इस तरह मेरा लंड उसकी चुत के अंदर तक जा रहा था। गर्म गीली चुत ने मेरा लंड चूसना शुरू क्या किया मेरे टटो पानी निकालना शुरू कर दिया। 

सुमन मेरे ऊपर बैठ मेरे लंड को चोदे जा रही थी और मेरा माल निकल रहा था। सारा लसलसा माल सुमन की चुत से निकल मेरी जांघो को चिपचिपा कर दिया। 

मुझे समझ नहीं आ रहा था क्या करू लंड से माल निकलने के बाद भी मेरी बहन मेरा लंड चोदे जा रही थी  से चिल्लाता रहा। 

थोड़ी देर बाद उसका भी गन्दा पानी चुत से बाहर आया तो वो रुकी। 

इस तरह हम दोनों को प्यार हो गया और हम कुछ दिन घर वालो से चुप कर एकदूसरे को चोदते रहे। 


हमे पता था की हमारे इस प्यार को लोग किस नजर से देखेंगे और क्या क्या कहेगे इसलिए हमने कुछ हमीने जमकर सेक्स किया और मैं दूसरे शहर जाकर काम खोजने लगा। जब मुझे काम मिल गया और मैं अपनी ही बहन को घर से भगा कर उसके साथ शादी कर लिया। घर वालो को नहीं पता था मैं कहा रहता हूँ और क्या करता हूँ साथ ही बहन कहा और क्यों गई उन्हें कुछ नहीं पता था। 

उसके बाद हम ख़ुशी ख़ुशी साथ रहने लगे और मैं हर महीने घर वालो को कुछ पैसे भेज देता था। तो ये थी मेरी antarvasna story और इस तरह मैंने अपनी सुंदर बहन को चोदा और बीवी बनाया। 

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts