Family Sex Story | Maa Beta Sex Story

घोड़ी बना कर अपनी माँ को चोदा

मैंने अपनी माँ की जबरदस्त चुदाई की और अपनी सारी सेक्स की भड़ास निकाल डाली। दोस्तों मेरा नाम है राघव और आज मैं आपको अपनी गांड कहानी सुनाने जा रहा हूँ। जब मैं अपनी माँ के साथ घूमने गया था तब मेरे साथ ये सब हुआ था। इसलिए मेरी कहानी घोड़ी बना कर अपनी माँ को चोदा को पूरा पढ़ना अगर आपका लंड हिलाने का मन है तो। 

दोस्तों मेरी सौतेली माँ काफी सेक्सी थी इसलिए मैं उसको चुदाई की नजरो से देखता था। एक दिन जब वो झाडू लगा रही थी तो मेरी नजर उनके स्तनों पर चली गई। 

पतली कमर और मोती गांड देख मेरा लंड तन गया और मैं उसे छुपाने लगा। जब माँ की नजर पड़ी तो उन्हें लगा की मैं कुछ हाथ में छुपा रहा हूँ। वो मेरे पास आई और उन्होंने मेरा हाथ खींच कर हटा दिया। 

उन्होंने देखा हाथ में तो कुछ नहीं था फिर उन्हें पता लगा की असली चीज़ तो मेरे पजामे में है। 

वो मुझे देख हर मुस्कुराने लगी और मेरे लिंग पर हाथ रख कर बोली ” बाप तो बाप बेटा और हरामी !! “

ये बोल कर उन्होंने मेरा पजामा नीचे उतार कर खोल दिया। मैं अपने हाथ से अपने लंड को छुपाने लगा और बोला ये आप क्या कर रही हो ??

उन्होंने मेरे कच्छे पर हाथ रखा और मेरे लिंग को आराम आराम से दबा कर देखने लगी। 

माँ – कभी इसे संतुष्ठ क्या है की नहीं ?

मैंने कहा – अहम हाँ। 

माँ – किसने ?

मैंने कहा – मैंने खुद अपने हाथ से किया है। 

माँ – हाहा तुम्हारे पापा भी यही करते रहते है पूरा दिन जब मैं नहीं करती। चिंता मत करो मैं हूँ न तुम्हारी सारी सूजन शांत करदगी। 

उन्होंने मेरा सूखा लंड निकाला और उसे चूस कर अपने थूक से गीली करने लगी। मैं आनंद से कापने लगा और मजे से वही खड़ा रहा। 

उन्होंने पहले तो मुझे अच्छे से चूसा फिर अपनी साड़ी उतार कर मुझे देखने लगी। मैं गहरी सास लेता हुआ आगे बड़ा और उनकी नरम छाती चूसने लगा।  

जैसे ही मैंने चूसा उनके स्तनों से दूध निकलने लगा। निप्पल्स से बहता दूध देख मेरी आंखे फट गई और मेरा लंड तन कर सबसे ज्याता टाइट हो गया। 

मैं स्तन चुस्त हुआ कभी उनका सुंदर पेट रगड़ता तो कभी कमर पकड़ता। उन्होंने अपने लम्बे बाल खोले और मुझे सेक्सी अदाए दिखने लगी। 

थोड़ी देर बाद जब उनकी चुत गीली हो गई तो वो मेरे सामने नंगी जमीन पर घोड़ी बनकर अपनी गांड हिलाने लगी। 

मैं वही सोचने लगा की अब मुझे क्या करना चाहिए क्या ये करना सही होगा क्या मैं कोई गलत काम तो नहीं कर रहा। 

तभी उन्होंने अपने उतारे हुए ब्लाउज से एक कंडोम निकाला और मुझे फेक कर दे दिया। 

कंडोम देख मैंने कीच नहीं सोचा और अपने लंड पर कंडोम लगाया और उसकी गांड पकड़ कर चुत को चोदने लगा। 

माँ की काली और गांड मोटी थी। मैं लंड अंदर डाल कर उन्हें धके लगाने लगा दोस्तों उस वक्त मैं तो काफी मजे में था और माँ मेरा चेहरा देख मुस्कुरा रही थी। 

चुत चोदता चोदता मैं आगे बड़ा और उनके बल नीचे गिरा कर उनकी सेक्सी गर्दन को चूमने चाटने लगा। 

धके लगाता लगाता मैं उनके स्तनों को पड़ रखा था और उनकी गर्दन को चुम रहा था। कुछ ही देर में वो भी आवाजे निकलने लगी और मेरे लंड का आनंद लेती रही। 

इस तरह मैं घोड़ी बना कर अपनी माँ को चोदा और उन्हें भी मजा देने लगा। उन्होंने नीचे से हाथ निकाला और मेरे टटो को दबाने लगी। मैंने पास पड़ी वेसलिने ली और उसे अपने लंड पर लगा कर उनकी चुत को दोबारा चोदने लगा। 

इस तरह माता मेरे मुलायम लंड को आराम से अंदर तक लेती रही और मैं उनकी चुत की दीवारों को रगड़ता रहा। 

इसी तरह हम दोनों झम्पिंग झपाक झंपक झंपक करते रहे और सेक्सी की सारी हदे पार करते रहे। थोड़ी देर बाद मैंने उन्हें उठाया और नापने बिस्तर पर लेटा कर उनकी दोनों टांगे उठा और चुदाई करने लगा। 

इस तरह मैं उनके ज्यादा अंदर जा पा रहा था और उन्हें दर्द का मजा दे रहा था। मैं उछाल कर उनकी जांघो और गांड पर अपनी कमरे मार रहा था और लंड तेजी और जोर से अंदर बाहर कर रहा था। 

दोस्तों मुझे तो काफी मजा आ राहत क्या पको मेरी माँ बेटे की अश्लील कहानी अच्छी लग रही है ?

कुछ इसी तरह चुदाई करते करते मैं उनके स्तन जोर जोर से हिला रहा था और दबा भी रहा था। मैं चोद चोद कर उनकी काली सेक्सी चूचिया खींच रहा था और उनका दूध उनकी की छाती और चेहरे पर गिरा रहा था। 

दूध दे उनका पूरा शरीर गिला हो गया और मैं उन्हें हर जगह चाटने लगा। 

उसके बाद जब मुझ से और नहीं रुका गया तो मैंने एक जोर से धका दिया और अपना लंड पूरा अंदर डाल दिया और अपना अपनी कंडोम में छोड़ दिया। तो दोस्तों इस तरह मेने घोड़ी बना कर अपनी माँ को चोदा। ये सब हम दोनों की मर्जी और हवस की वजह से हुआ और ये कुछ दिन कर कर जारी रहा। 

मैं हर दिन चुदाई करता और लंड को शांत करता।

Similar Posts