Desi Sex Story | Gay Sex Story | Hindi Sex Stories | XXX Stories

Gay Antarvasna Kahani; बस में अनजान का लंड चूसा ! 🥒🥒🍆

राजेंद्र जब बस में चढ़े तो उन्हें एक जवान लड़का अकेला बैठा दिखा। वो उसके पास गए और लड़के से गन्दी बाते करने लगे। देखते ही देखते उसे लिंग खड़ा हुआ तो दोनों में प्यार हो गया। इस कहानी में राजेंद्र ने बताया की कैसे पानी प्रेग्नेंट बीवी को छोड़ कर राजेंद्र एक अनजान लड़के को अपने घर लेजाकर चोद डेल। राजेंद्र की गे चुदाई कहानी काफी आनद से भरी और मजेदार है।


अनजान लड़के के साथ गे सेक्स!! 🤫🤫🤭💦💦

दोस्तों मेरा नाम राजेंद्र है और मैं 30 साल का गे आदमी हूँ। मैं पुणे का रहने वाला हूँ और मेरी शादी भी हो चुकी है। वैसे तो मेरी बीबी काफी सुंदर है पर मुझे उसके साथ सेक्स करने में कोई मजा नहीं आता। मेरा जवान लड़को में ज्यादा ध्यान रहता है।

मैंने अपनी पूरी जिंदगी में बस 2 बार अलग अलग लड़को के साथ सेक्स का आनंद लिया है। पहली पहली बार तो एक गे लड़का मुझे पार्क में पीला था और दूसरी बार मैंने अपने एक पुराने गे दोस्त के साथ सेक्स किया था। और ये कहानी मेरी तीसरी गे चुदाई की है। इस गे अन्तर्वासना कहानी का कोई दूसरा या तीसरा भाग नहीं होगा इसलिए ये कहानी पूरी पढ़ना।

तो दोस्तों मेरी कहानी बस में अनजान का लंड चूसा तब शुरू हुई जब मैं अपनी प्रेग्नेंट बीबी के लिए कुछ जरुरी सामान लेने के लिए घर जा रहा था। मेरा पहला बच्चा होने वाला था जिस कारण मेरी बीवी हॉस्पिटल में थी। मैं वह से उसके लिए कुछ सामान लेने के लिए निकला।

घर जाने के लिए मैं एक बस में बैठा जो आधे से ज्यादा खली थी। आखिर दोपहर के वक्त सब खाली ही होगा ना। उस बस में मेरे साथ वाली लाइन में एक पतला सा लड़का बैठा था जिसका बदन गोरा और आंखे भूरी थी। उसे देख मेरे अंदर की गे वासना जागने लगी और मैं उसे देखा हुआ कुछ न कुछ गन्दा सोचने लगा।

फेसबुक पर मिला गे लड़का तो चोद डाला भाग 1

वो लड़का भी मुझे देखा और उसने मुझे देख अपना मुँह फेर लिया। देखते ही देहते मेरा लिंग खड़ा हो गया और मैं उसे धीरे धीरे सहलाता रहा। मैंने अपने लिंग पर बैग रखा और नीचे ही नीचे उसे मसलने लगा।

वो लड़का भी कुछ कुछ देर बाद मुझे देखने लगा। वो करीब 22 साल का होगा। मेरा एक हाथ बैग के नीचे देख वो भी समज गया की मैं क्या कर रहा हूँ। किस्मत से उसका लिंग भी खड़ा हो गया और वो अपने हाथो से किसी तरह उसको छुपाने लगा। पर मुझे साफ दिख रहा था की उसका खड़ा हुआ है और वो भी मुझे देख गन्दा सोच रहा है।

Gay Ladke ka Lawda Chusa 😍😍😆👌

मैं हिमत कर के आगे गया और उसके साथ बैठ गया। मैंने मुस्कुराते हुए उसका नाम पूछा और उस से बाते करने लगा। बाते करते हुए मैं कभी उसके होठो को देखता तो कभी लिंग को।

देखते ही देखते वो भी समज गया की मैं उसे कैसे देख रहा हूँ। अचानक उसने अपना हाथ बढ़ाया और मेरे लिंग पर रख दिया। और मेरे टोपे से हल्का सा पानी निकल गया। मैंने खुश होकर उसके टोपे पर हाथ रखा और वो भी खुश हो गया। बस आधी खली थी और हम पीछे बैठे एक दूसरे का लंड जीन्स के ऊपर से सहलाते रहे। उसके बाद मेरी हवस और बाद गई मैंने जल्दी से उसकी जीन्स ऊपर से खोली और उसका लंड बाहर निकाल दिया।

लड़का – क्या कर रहे हो ?? यहाँ करना ठीक नहीं है।

राजेंद्र – तुम बस आराम से बैठे रहो और आवाज मत करना !!

लड़का – अहह अहह अरे नहीं नहीं !! OMG !!

(राजेंद्र ने उसका लिंग थोड़ा सा हिलाया और उसके बाद नीचे झुक कर चलती बस में ही लैंड चूसने लगा। वो लड़का गहरी सासे लेता हुआ पूरा लंड चुसवाता रहा!)

मैंने उसका लंड पूरा मुँह में लिया और मजे से चूसने लगा। ऐसा आनंद मुझे काफी समय बाद मिल रहा था। मैंने जोर जोर से उसे और चूसा और अगले ही पल उसके गोर लंड से सफ़ेद पानी निकल गया। वो लड़का आनंद से कापने लगा और मैंने उसका सारा रस अपने गले में उतार लिया।

पुराने दोस्त के साथ एक रात

उसके बाद उसने जल्दी से अपने लिंग को वापस अंदर डाला और मुझे देखने लगा। मुझे प्यार से देखते हुए उसे होठो पर चूमने लगा और अपने ही पानी का स्वाद लेने लगा। उसने मुझे खूब चूमना और चलती बस में ही पूरा आनंद ले लिया। उसने कभी मेरी होठो को चूसा तो कभी मेरे मुँह ने अपनी जुबान घुसाई। देखते ही देखते मेरा भी लंड गिला होने लगा और उसने उसे भी दबाना शुरू कर दिया।

Gay ki Antarvasna Sex Kahani

अगले ही पल वो जगह आ गई जहा मुझे उतरना था। मैं खड़ा हुआ और उस से जल्दी से उसका फ़ोन नंबर मांगने लगा। इतने में बस वाला चिलाय “अरे भाई क्या कर रा है !!!”

तभी पूरी बस के लोग मुझे गुस्से से देखने लगा। वो लड़का मेरा हाथ पकड़ा और बोला चलो मैं भी यही उतर जाता हूँ।

राजेंद्र – अरे तुम भी यही के रहने वाले हो क्या ?

लड़का – नहीं ! तुमने मुझे इतना आनंद दिया तो बदले में मैं भी तुम्हे कुछ मजा देना चाहता हूँ।

(राजेंद्र ने ये सुनकर कुछ पल सोचा और उसे मना करने लगा। पर जैसे ही उसके लिंग ने हिलना शुरू किया उसका मन खुद बदल गया और वो उसको अपने घर ले गया।)

मैंने उसे अपना घर दिखा और ये भी बताया की मेरी शादी हो चुकी है और मेरा बच्चा होने वाला है। उसने मेरा हाथ पकड़ा और कहा “ये जो तुम मेरे साथ करने वाले हो उसे लेकर ऐसा मत संजना की तुम अपनी बीवी को धोखा दे रहे हो !!”

मैंने उसकी हां में हां मिले और घर के अंदर चला गया। अंदर जाते ही उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे चूमने लगा। काफी आनंद आ रहा था और काफी अच्छा और नया नया एहसास था।


तो दोस्तों यही थी मेरी हिंदी अन्तर्वासना सेक्स कहानी। माफ़ करना की मैंने पहले आपको बोला की यह मेरी पूरी कहानी है। मैं अगला भाग जल्द से जल्द antarvasnakahani.com पर प्रकाशित करवाऊंगा।

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *