|

Baap Beti Antarvasna Kahani; पापा की गन्दी सचाई! Part-2 😖🤐🥶

पटना की रहने वाली रिंकी अपनी कहानी के दूसरे भाग के साथ वापस हाजिर है। पहले भाग में अपने पड़ा की रिंकी के पापा किस तरह जमादारनी को अपने लंड पर उछाल रहे थे। रिंकी अपने ही पिता को सेक्स करता देख अपनी चुत मसलने लगी। उसके काफी आनंद आ रहा था। कभी अपनी चूचिया दबाती तो कभी चुत पर थूक कर ऊँगली करती। अब देखा ये है की आगे क्या होगा।


पापा और जमादारनी की जबरदस्त चुदाई !! 🙀🙀

दोस्तों मैं रिंकी अगर अपने मेरी सेक्स कहानी पापा की गन्दी सचाई नहीं पढ़ी तो नीचे क्लिक कर के पहला भाग पढ़ सकते है। उम्मीद है मेरी ये अन्तर्वासना चुदाई कहानी पढ़कर इस बार आपका पानी जरूर निकलेगा।

पापा की गन्दी सचाई! Part-1

तो दोस्तों अब एते है मेरे पापा की सेक्स कहानी पर। दोस्तों मजदरनी पूरी नंगी हुई और पापा के लिंग को चूसने के बाद उसपर कूदने लगी और उसके लंड को चोदने लगी। कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको बता दू की क्यों की मैं उन्हें दूर से देख रही थी इसलिए मुझे ज्यादा कुछ देखने को नहीं मिला। पर आप लोगो को कामुक आनंद देने के लिए मैं ऐसी कहानी बता रही हूँ जैसे की मैं उन्हें पास से देख रही थी। इस क्सक्सक्स सेक्स कहानी में आधी चीजे काल्पनिक होगी।

Baap beti ki chudai kahani

पापा जमादारनी की बड़ी सी गांड अपने हाथो से जकड़ कर उसे ऊपर नीचे उछाले जा रहे थे। उनकी जबरदस्त चुदाई से पूरी गाड़ी भी हिले जा रही थी। मैं बाहर बैठी पुरे मजे लिए जा रही थी। जमादारनी की कमर सेक्सी थी। पतली कमर भारी लटकती छाती और गोल बड़ी गांड। देखने में ऐसा लग रहा था की वो जमादारनी नहीं कही की रंडी है जो चुद चुद कर ऐसी बन गई है।

बुर्क़ा फाड़ कर मुस्लिम आंटी की जबरदस्त चुदाई कहानी! 💦💦💦

(रिंकी के पापा और जमादारनी दोनों एक दूसरे के प्यार में इतने खो गए की वो अपने आसपास देखना ही भूल गए। इसी बीच रिंकी धीरे धीरे उनकी गाड़ी के पास आकर उनकी देसी चुदाई देखने लगी।)

मैं धीरे धीरे आगे गई और उन्दोनो की चुदाई और करीब से देखने लगी। मेरे शराबी बाप की नजर जमादारनी की छाती पर थी और जमादारनी बेशर्मी से मुस्कुरा रही थी। वो पापा के लंड पर अपनी गांड उछाले जा रही थी और पापा उसकी चूचियों को चाट रहे थे। साथ ही वो कुछ गन्दी अश्लील बाते भी कर रहे थे।

जमादारनी – हहहहह अह्ह्ह अहह तुम थकते नहीं हो क्या इन्ही चूस चूस कर??

पापा – हम्म्म हम्म ये तो मैं तेरे से भी पूछ सकता हूँ !!

जमादारनी – अह्ह्ह क्या मतलब ?

पापा – ममम अम्म्म अह्ह्ह तू भी तो नहीं थकती मेरे गोटे और लंड चूसते हुए।

जमादारनी (शरमाते हुए) – उह्ह्ह अह्ह्ह अहह चुप रहो न कितनी गन्दी तरह से बोल रहे हो !!

पापा – ममम अह्ह्ह मुझे बोलने से पहले अपने आप को देख की तेरे में कितनी हवस है मेरे लिए !!

चुत लंड – फट फट फट फट पट पट तप गप गप गप !!!

चुदाई देख मैंने भी अपनी चुत को पीटा !! 🥴🥴💦💦💦

दूध की धूलि तो मैं भी नहीं थी क्यों की मैंने भी काफी सारी भाई बहन की हिंदी सेक्स कहानियाँ पढ़ी हुई थी। मैं हर दिन अपनी कल्पना करती की कोई लड़का मेरी चुत चाट कर मेरा रस निकाले। खेर उस वक्त मैं भी बेकाबू हो गई और अपनी चुत में एक साथ दो ऊँगली डाल कर उसे चोदने लगी।

मैं जोर जोर से अपनी चुत में उनलगी करने लगी और वहा से अपनी निकलने लगा। जमादारनी और पापा की गन्दी और आवाजे सुनकर ही मेरा शरीर कापने लगा। जमादारनी पापा को चूमे जा रही थी और लंड पर कूदते हुए अपने चूतड़ों से तेज आवाजे भी निकाल रही थी।

थोड़ी देर इस तरह चुदाई के बाद जमादारनी के चूतड़ों पर जोर से चाटा लगाया और उसे गाड़ी के पीछे जाने को कहा। जमादारनी पीछे गई और पापा भी पीछे चले गए।

पीछे जाते ही पापा ने जमादारनी की टांगे खोली और उसकी गन्दी काली योनी को चाटने लगे। उसने इतनी हवस भरी थी की वो साथ में उसे चूस भी रहे थे।

देसी पापा !!

(जमादारनी की योनी से लबा लब पानी निकल रहा था जिसे रिंकी के पिता पूरी शिद्धत से चाट रहे थे। चाटने के बाद रिंकी के पिता ने 4 से 5 बार योनी पर जोर से चूसा तो जमादारनी का शरीर थरथराने लगा। ये सब देख रहनी का भी मन सम्भोग गकरने का करने लगा।)

जमादारनी पापा के चुसो के कारण बेकाबू हो गई और जोर जोर से चिलाने लगी। तभी पापा को भी पता लग गया की यही वक्त है भोसड़े की सही खुदाई करने का।

जमादारनी – अहह अह्ह्ह अहह उह्ह्ह अह्ह्ह !! अह्ह्ह अम्मम्म ममम अहह !!

पापा (चुत चाटते हुए) – ममम मममम अम्म्म अम्म्म चुत का रस अम्म्म आदमी के लिए अमृत होता है ममम !!!

जमादारनी – अहह अम्म्म अम्म्म अह्ह्ह ओह अच्छा तोह जल्दी से मेरा अमृत निकालो को उसका स्वाद लेलो जनु।

पापा (चुत चाटते हुए) – अहह अम्म्म अहह अहह अम्म्म मुझे तेरा रस पीना है साली रंडी !!! मुझे अपने भोसड़े का स्वाद चखा !!

पापा ने जमादारनी के भोसड़े से पानी निकाला !! 💦💦💦💧🌊🌊

पापा चुत चांटे के बाद अपना भारी लटकता लिंग पकड़े और उसे जोर जोर से हिला कर खड़ा करने लगे। जैसे ही लिंग का टोपा फूल कर लाल हुआ उन्होंने लंड की खाल पीछे की और जमादारनी की आँखों में देखते हुए चुत पर रखा और झटके से अंदर घुसा दिया। जैसे ही लिंग अंदर गया जमादारनी की सासे अटक गई और वो पापा को देखती रही।

उसके बाद तो मनो पापा मशीन बन गए और जोर जोर से उस भिखारन की चुदाई करने पर तूल गए। जमादारनी पीछे की सीट पर टंगे खोल कर लेती थी और पापा उसकी जांघो के बीच जोर जोर से अपनी कमर मारकर चुत में अपना लिंग रगड़ रहे थे।

पापा पागल ही हो गए और जोर जोर से अपना लंड जमादारनी के अंदर मारे जा रहे थे। चुत इस इस तरह चुदाई होक के कारण जमादारनी आनंद से हाफने लगी और पापा की छाती और चूतड़ों को अपने हाथो से नोचने लगी।

छोटी लड़की की चुत की चुदाई

(रिंकी के पापा जोर से अपना लंड अंदर घुसाते और उसके बाद पूरा बाहर निकाल कर उसे वापस अंदर घुसाते। पता नहीं कैसे उनका माल अभी तक नहीं निकला और जमादारनी की चुत अपने चरम सुख के करीब आ पहुंची। अब चलद ही जमादारनी की निकलने वाली थी।)

जमादारनी – अहह अहह चोदो और जोर से चोदो !! तुम्हारी गोटिया दर्द नहीं हो रही क्या !!

पापा – अहह अहह मम अहह हो रही है !! अहहह अहह !!

जमादारनी – अह्ह्ह तुम तुक सकते हो अगर चाहते तो !!!

पापा – नहीं मुझे तेरा रस चेतना है !!

जमादारनी और पापा 69 पोज़िशन में !! 👌👌👌👌

देखते ही देखते जमादारनी की चुत पानी छोड़ने लगी। पानी की तेज धार से गाड़ी का शीशा भी गिला हो गया और मैं अंदर नहीं देख पाई। पर जैसे ही पानी निकला चुत से लंड झटके से बाहर निकला और पापा के पुरे लिंग को भिगाने लगा।

पापा जल्दी से जमदानी को लेटए और उनके ऊपर लेट कर चुत के पानी की धार अपने मुँह में लेने लगे। उन्होंने अपना खड़ा लंड जमादारनी के मुँह के आगे लटकाया क्या था तो जमादारनी भी पीछे नहीं रुकी।

वो भी जोर जोर से लंग को हिलाते हुए टोपे को चूसने लगी और पापा की मलाई निकालने लगी। देखते ही देहते पापा की लटकती गोटिया ऊपर उठी और लंड से सफ़ेद पानी बाहर निकलने लगा। जमादारनी ने जल्दी से उसे अपने मुँह में लिया और सीधा माल को अपने गले में उतार लिया।

दूसरी तरहफ पापा ने चुत चाट कर उसकी पूरी सफाई कर डाली। और इस तरह गाड़ी हिलना बंद हो गई। वह उनकी चुदाई खत्म हुआ और यहाँ मेरी योनी से भी रस निकल गया। मेरा शरीर पूरा तक गया और मैं वही बैठी रही।

दूसरी तरफ पापा ने गाड़ी की खिड़की थोड़ी से खोली ताकि तजि हवा अंदर आ सकते और चुत लंड की बदबू खत्म हो। उसके बाद वो भी जमदानी के नरम शरीर को गले लगा कर वही पड़े रहे।


तोह दोस्तों ये थी मेरी लॉकडाउन में सेक्स की कहानी। मुझे पता है की अब तक तोह अपने भी लिंग और योनी से पानी निकल गया होगा। उम्मीद है आपको कहानी पसंद आई होगी। कमेंट करके मुझे जरूर बताये की आपको केसा लगा।

[email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1

Similar Posts

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *