Baap Beti Sex Story | Desi Sex Story | Family Sex Story | First Time Sex Story | Girlfriend Sex Story | Hindi Sex Stories | XXX Stories

देसी पापा !!

मेरे देसी पापा ने मुझे जोरदार चोदा और मेरे सर से आशिकी का बहुत उतार डाला। मेरा नाम रूही है और आज मैं आप सभी को अपनी अन्तर्वासना कहानी सुनाने जा रही हूँ। ये मेरी अश्लील कहानी है जिसमे मैंने कैसे अपने बाप के साथ चुदाई की ये बताने जा रही हूँ। आज से एक साल पहले मेरी उम्र 23 साल थी और मेरा बाप मेरी शादी करवा कर मुझ से छुटकारा पाना चाहता था। पर मैंने शादी के लिए  क्यों को मैं किसी और से प्यार करती थी इसलिए मेने शादी के लिए मना कर दिया। 

बस यही बात मेरे बाप को पसंद नहीं आई और उसने मुझे घर से निकल दिया। घर से निकलने के बाद मैं सीधा अपने बॉयफ्रेंड राज के पास चली गई। 

वो अकेला रहता था और उसने मकान किराए पर ले रखा था। तो हम दोनों पुणे में किसी का आधा मकान किराये पर लेकर रहने लगे। 

और ये बात न जाने कैसे मेरे बाप को पता लग गई। उस दिन मैं अपने बॉयफ्रेंड के कपडे धो कर उन्हें छाजे पर सूखा रही थी तभी मुझे मेरा बाप मेरे घर के बाहर खड़ा दिखा। वो मुझे गुसे से देख रहा था। 

ऊपर से मैंने उस वक्त काफी छोटे कपड़े पहन रखे थे। मैंने एक छोटी सी टाइट निकर और ऊपर क्रॉप टॉप पहन रखा था।  

पापा मुझे देख भाग कर ऊपर आने लगे और मैं डर गई। समज नहीं आ रहा था की क्या करू। पापा ने जोर जोर से दरवाजा बजाय मैं धीरे धीरे आगे गई और दरवाजा खोल दिया। 

पापा ने मुझे देखा और घुसे में कहा यहाँ क्या कर रही है !!

मैंने कुछ नहीं बोला। तभी उन्होंने मुझे ऊपर से नीचे देखने लगे और मैं चुपचाप कड़ी रही। 

मैं नजरे झुका कर कड़ी रही और पापा मुझे देखते रहे। 

मैं पहले ही नीचे देख रही थी की तभी पापा की पैंट से कुछ मोटा मोटा उठने लगा और कुछ ही देर में उनका लिंग तन गया। 

मैं लिंग देख कर कुछ समज नहीं पाई और पापा ने मेरे कंधो पर हाथ रख दिया। 

दोस्तों मेरे सौतेले पापा ने मुझे कामुक चुदाई की नजरो से देख अपना लिंग खड़ा कर दिया। 

उनका मोटा मोटा लंड देख मैं भी कामुक होने लगी और उनके लिंग पर मैंने हाथ रख दिया। 

हाथ रखते ही पापा का गुसा शांत हो गया और वो मुझे प्यार से चुदाई की नजर से देखने लगे। धीरे धीरे माहौल रोमांस का खोने लगा और मैं और पापा सेक्सी फील करने लगे।

उसके बाद पापा ने मेरे स्तनों को पकड़ा और उन्हें दबाने लगे मैं धीरे धीरे सासे लेने लगी और मेरा सौतेला बाप मेरे स्तनों से खेलने लगा। कामुक होकर मैंने उनकी पैंट की जीप खोल डाली और उनके लिंग को भार निकाल हिलाना शुरू कर दिया। 

पापा भी आराम से तेज सासे लेने लगे और मैं उनका लिंग हिलती हुई उनके गर्म लिंग का मजा लेने लगी। 

उस वक्त बॉयफ्रेंड घर पर नहीं था और पापा मेरे साथ सेक्स करने वाले थे। 

कामुक होकर मैंने अपनी निकर बा बटन खोला और पापा का हाथ अपनी कच्छी में घुसा दिया। 

उनका हाथ उसी वक्त मेरी चुत में उंगलिया करने लगा और मेरी चुत गीली होने लगी। 

देखते देखते मेरा शरीर अपने आप पर काबू नहीं कर पाया। 

सौतेले बाप ने मुझे गोद में उठाया और पास पड़े सोफे पर फेक कर मेरी निकर और कच्छी उतार डाली। 

निकर उतार कर उन्होंने मेरी चुत पर थोड़ा सा मुँह मारा और मुझे लंड लेने के लिए तैयार करने लगे। 

मुँह मार कर वो अपना लिंग हिलाने लगे और अचानक से अपना पूरा टोपा मेरी चुत में घुसा दिया। 

मुझे ऐसा लगा ऐसे कोई बड़ा सा जानवर मेरे ऑनर घुस गया है। लिंग काफी गर्म और मोटा था जो चुत को अच्छे से रगड़ रहा था। 

मैं आराम से चुत में लंड लेने लगी और पापा धीरे धीरे मेरी चुत चोदने लगे। 

उन्होंने अपने दोनों हाथो से मेरे मोटे और प्यारे थनो को पकड़ा और उन्हें दबा दबा कर लाल करने लगे। 

वो कभी मेरी गर्दन पकड़ते तो कभी मेरे मुँह में उनलगी डालते। 

मैं उनकी उनलगी चांटे चूसने लगी और सेक्स का पूरा आनंद लेने लगी। 

पापा आगे बड़े और मेरे स्तनों में अपना मुँह डाल कर उन्हें चूसते हुए मेरे बदन को और गर्म करने लगे। मैं कामुक होकर अपने होश खो बैठी और बस उस पल का पूरा पूरा आनंद लेने लगी। मेरे देसी पापा ने ने मुझे उसी वक्त जम कर चोदना और चूसना शुरू कर डाला। 

मैं अपनी कमर मेरी जांघो के बिच मार मार कर मेरी चुत मारते हुए मेरे स्तनों को चूसने लगे। 

मैं बेजान होकर उनके लिंग का मेरे अंदर होने का मजा लेती रही। मेरे देसी पापा पुरे जोश में थे और उन्हें इस बात की कोई शर्म नहीं थी की वो पानी सौतेली बेटी को चोद रहे है।  

धीरे धीरे मेरा और उनका चुदाई का नशा बढ़ने लगा और मैंने उनके होठो को चूमना शुरू कर दिया। सेक्सी देसी पापा ने मेरे होठो को भी दबा कर चूसा और मुझे पूरा संतुष्ट कर के छोड़ा। 

कुछ देर बाद उन्होंने मुझे मेरी कमर पकड़ कर उठाया और मुझे खड़े होकर लंड पर बैठा कर चोदने लगे। मैं अपनी टांगे उनकी कमर पर लपेट कर लटक गई और उनके लंड को अपनी चुत में सीधा लेने लगी। 

देसी पापा ने अपने दोनों हाथो से मेरी गांड पकड़ राखी थी और मुझे ऊपर नीचे उछाल कर मेरे स्तन अपनी छाती पर रगड़ रहे थे और मेरी चुत को अपने लंड पर रगड़ रहे थे। 

इसी तरह चुदते हुए उन्होंने मेरी गर्दन को चूमना शुरू कर डाला और मुझे पूरा आनंद देने लगे। वो अपनी जुबान मेरी गर्दन और कान पर मारने लगे। 

देखते ही देखते मैं चरम सुख तक जा पहुंची। मेरे शरीर का हर एक अंग कापने लगा और त्वचा पर रोंगटे ही रोंगटे खड़े हो गए। 

उसी वक्त मेरी ऐसी तड़पती हालत देख पापा को सेक्स चढ़ गया और उन्होंने मेरी चुत में अपना गर्म पानी छोड़ डाला। 

चुत में गर्म माल का एहसास होते ही मैं चरम सुख प्राप्त कर बैठी और चुत से सफ़ेद मलाई निकालने लगी। 

देखते ही देखते पापा का शरीर इतनी जबरदस्त चुदाई करने के बाद थक कर टूट गया और उन्होंने मुझे सीधा सोफे पर फेक दिया। 

मुझे चोदने के बाद उन्हें होश आया की उन्होंने क्या किया है। मेरे कामुक शरीर को देख वो अपने लंड से सोचने लगे थे इसलिए उन्होंने मुझे चोद डाला और मेरी चुत में माल छोड़ दिया। 

इसके बाद पापा डर गए और उनके समज में कुछ नहीं आया की क्या करू। 

उसके बाद वो वहा से भाग गए और मैं वही चुद कर लेटी रही। 

Similar Posts