Aunty Sex Story | Desi Sex Story | First Time Sex Story | Hindi Sex Stories | Wife Sex Story | XXX Stories

बुर्क़ा फाड़ कर मुस्लिम आंटी की जबरदस्त चुदाई कहानी! 💦💦💦

लखनऊ के 24 साल के राघव काफी अकेला महसूस किया करते थे। पर जब उन्होंने किसी रसीली मुस्लिम आंटी को अपना आधा घर लॉकडाउन में किराए पर दिया तो उसके भाग खुल गए। राघव का कहना है की मुस्लिम आंटी के पति ने दूसरी शादी कर दूसरा घर बसा लिया था जिस वजह से उन्हें पैसो की काफी तंगी रहती है। अब राघव और आंटी के बीच कैसे प्यार और सम्भोग हुआ ये क्सक्सक्स चुदाई कहानी पढ़कर जाने। राघव का कहना है की आंटी ने बुर्क़ा पहना था पर उसके बावजद भी उन्हें पता लग गया की आंटी कितनी सेक्सी है।

महत्वपूर्ण सूचना!

इस कहानी के जरिए राघव मुस्लिम औरतो के प्रति कोई गलत संदेश नहीं देना चाहते। राघव बस इस कहानी को लोगो तक पहुंचना चाहते है ताकि वो कामुक आनंद ले पाए। साथ ही साथ antarvasnakahani.com किसी प्रकार का हिन्दू मुस्लिम भेदभाव को समर्थन और बढ़ावा नहीं करता है। इस कहानी को केवल मनोरंजन के लिए ही पढ़े।


मुस्लिम आंटी की चुदाई कहानी! 😈😈

मेरा नाम राघव मैं 24 साल का हूँ और लखनऊ ने अपने पिता जी के साथ रहता हूँ। मेरी बड़ी बहन की शादी हो चुकी और माँ पहले ही चल बसी है। पिता जी को काफी सारी बीमारिया है इसलिए घर का सारा खर्च में ही चलता हूँ। साथ ही साथ पिता जी को कम भी सुनाई देता है जिस वजह से मैं मुस्लिम आंटी की चुदाई को अंजाम दे पाया।

(राघव घर का खर्च चलने के लिए आधा घर आंटी को किराए पर देता है।)

अब घर का खर्च चलने के लिए मैंने किसी मुस्लिम आंटी को किराए पर दे दिया। वैसे भी आधा घर खली पड़ा रहता था। हलाकि मैं कही काम तो कर रहा था पर 15 हजार प्रति महीना कुछ कम लगता था। मैंने आंटी को करीब 6 हजार में ऊपर की मंजिल किराए पर दी और आंटी अपने सामान और बच्चो के साथ यहाँ आ गई।

(राघव के अनुसार मुस्लिम आंटी के पति ने दूसरी शादी कर कही और घर बसा लिया। इसी वजह से आंटी बाहर कपड़े की फैक्ट्री में काम करती और अपने 3 बच्चों को भी संभालती। उनकी 2 बेटिया थी और 1 छोटा बीटा। बेटा स्कूल जाया करता तो बेटिया कॉलेज।)

आंटी जैसे ही घर में घुसी मैं अगले दिन उसने किराए की बात करने चला गया। बिजली, पानी और किराया कब और कैसे देना है मैं वो सब सेक्सी आंटी को तबाने लगा। तभी बात करते हुए मेरी नजर उनके होठो पर जा पड़ी। हलाकि उन्होंने बुरखा पहना था पर उनका सुंदर चेहरा ही मेरी चुदाई की इच्छा बड़ा रहा था।

मुस्लिम आंटी – क्या हुआ बेटा ऐसे क्यों देख रहे हो ?

राघव (हड़बड़ी में) – क्या मैं ? नहीं कुछ नहीं आंटी जी वो मैं बस।

(आंटी राघव के गंदे इरादों को समज गई और मन ही मन थोड़ा कुश होने लगी। उन्होंने राघव को मुस्कुरा कर देखा और उसे चाय के लिए पूछ लिया।)

सेक्सी आंटी का सेक्सी बदन 😍😍

मैं पास पड़े सोफे पर बैठा और आंटी चाय बनाने लगी और मैं पीछे से उनके सेक्सी शरीर को देखने लगा। आंटी की भरी गांड बुरखे से बाहर निकली हुई थी और छाती के दोनों बड़े बड़े पहाड़ किसी पानी के गुब्बारे की तरह हिल रहे थे।

देखते ही देखते मेरा लिंग टाइट होने लगा और मैंने अपने लिंग को जांघो के बीच दबा कर छुपाने लगा। आंटी चाय लेकर मेरे पास आई तो उन्होंने नीचे झुक कर सामने पड़े टेबल पर रख दी। मेरी बड़ी मड़ई आंखे उनकी छाती की दरार देख नशीली हो गई।

गांड तोड़ चुदाई की हॉट सेक्स कहानी

उसके बाद आंटी साथ बैठी और मुझ से बतलाने लगी। वो यहाँ के माहौल और लोगो के बारे में बात करने लगी क्यों की उनकी दो बेटिया थी। पर उन्हें क्या पता उनका मकान माली ही उनके चुदाई के सपने देख रहा है।

अब अचानक किसी बेवकूफ ने बाहर कोई पटाका अचानक से फोड़ दिया और आंटी और मैं डर गए। अचानक हुए धमाके से मेरी जांघो में फसा लिंग किसी डंडे की तरह बाहर निकल खड़ा हो गया।

सामने बैठी आंटी मेरे पजामी में उठे हुए लिंग को देखने लगी और हैरानी से आंखे बड़ी क़र ली।

मुस्लिम आंटी – राघव !!!

राघव – नहीं नहीं आंटी वो बस !!

मुस्लिम आंटी – ये सब ?

राघव – आंटी की वो आप काफी वो !! आप काफी सुंदर हो !!

मुस्लिम आंटी – ये सब तुम क्या सोच और कह रहे हो तुम्हे पता भी है ? अपनी उम्र देखो पहले !!

मैं डर गया और अचानक से वहा से चला गया और आंटी से कहा “मुझे माफ़ करना आपको मेरी तरफ से कोई तकलीफ नहीं होगी !!”

(एक महीने बाद जब आंटी को महसूस हुआ की उन्हें भी तो शारीरक संतुष्टि चाहिए तो उन्होंने राघव को भाव देना शुरू किया। जब भी दोनों का सामना होता आंटी हसकर बात करने लगती और राघव को कामुक तरीके से देखने लगती।)

आंटी मुझे करीब 1 महीने बाद भाव देने लगी। शायद उन्होंने ये सोचा होगा की मैं उन्हें किस तरह की ख़ुशी दे सकता हूँ और किसी को पता भी नहीं चलेगा की हमारे बीच क्या चल रहा है।

बुर्क़ा फाड़ कर आंटी को चोदा!

आंटी की लाख कोशिशों के बाद मैंने उसे कोई घास नहीं डाली पर सुबह अचानक आंटी ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे कीच कर ऊपर ले गई और मुझे चाय के लिए पूछा। देखने से साफ पता लग रहा था की आंटी की चुदाई की इच्छा काफी बड़ी हुई है। उन्हें इस तरह बात करता देख मेरे दिमाग में काफी सारी porn sex story चलने लगी जो मैंने आज तक पढ़ी थी। मैं मन ही मन सोचने लगा की अगर आज मैं आंटी को चोद पाया तो ये मेरी पहली चुदाई होगी। और अगर आंटी की दोनों बेतिया भी मेरा लिंग लेने के लिए नंगी हो जाये तो group sex करने में तो मजा ही आ जाएगा।

आंटी (मेरी गर्दन पर हाथ रख कहती है) – राघव चाय पीना चाहोगे ?

राघव (आंटी के हाथ पर चूमते हुए) – जी जरूर !!

आंटी (आंटी मटकते हुए रसोई में जाती है) – तो राघव जी आप साथ में क्या लगे ?

राघव (खड़ा होकर आंटी के पास जाता है) – आपकी टांग उठा कर लुगा!!

उसके बाद मैं आंटी के बाल खींच उनकी बाहर निकली गांड बुरखे के ऊपर से ही सेहलाने लगा। आंटी मुस्कुरा कर मेरी आँखों में देखने लगी और मैं उनकी नरम गांड के अंदर अपने हाथ को रगड़ने लगी। सेक्सी मुस्लिम आंटी चुदाई के लिए बेताब हो रही थी तो मैने उन्हें उनकी गर्दन पर चूमना शुरू कर दिया और उनकी छाती एक हाथ से दबाने लगा।

झोपडी में प्रेस वाली के साथ चुदाई भाग 1

आंटी – अहह ऊऊऊह्ह्ह !! अह्ह्ह !! और अहह !! मुझे होठो पर चूमो !!

राघव – अहह आंटी !! आपके चूतड़ कितने बड़े है !!

आंटी – क्यों तुम्हारा लिंग छोटा है क्या जो अंदर तक नहीं जाएगा ?

राघव – ममम नहीं !! इतना बड़ा की आपको दर्द दे दे !!

आंटी – जरा दिखाना मुझे !!

आंटी मेरा लिंग चूसने नीचे ही बैठे वाली थी मैंने उन्हें उठा दिया और अपनी तरफ मुँह करवा कर उन्हें होठो पर चूमने लगा। साथ ही मैंने जल्दी से उनका बुर्क़ा छाती की तरफ से फाड़ा और उनके दोनों दूध बाहर निकाल दिए। उसके बाद मैं उनकी ब्रा के ऊपर से ही दूधिया छाती दबाने लगा और आंटी के होठो को अपने होठो से गिला करने लगा।

खाट पर भाई बहन की सेक्सी चुदाई भाग 1

काफी आनंद आ रहा था मुझे और आंटी को। हम दोनों इस तरह गीली और सेक्सी पापी कर रहे थी जैसे हमे एक दूसरे मुँह से रस मिल रहा हो। कुछ ही देर में आंटी के दोनों निप्पल खड़े हो गए और ब्रा के ऊपर से दिखने लगी। मैंने देखते ही झट से दोनों चूचिया बाहर निकली और उन्हें चूसने लगा।

आंटी – अहह अहह थोड़ा आराम से चुसो !! अहह मेरी नाजुक छाती थोड़ा कोमलता से चुसो !!

राघव – ुह्ह्ह्हह्हह अह्ह्ह !!! ऐसे कैसे मैं आपकी रसीली छाती को छोड़ दू।

आंटी – हाँ हाँ चूस लेना पर थोड़ा प्यार से करो आप तो पुरे जानवर हो रहे हो !!

उसके बाद मैंने आंटी को अपने सामने झुका कर खड़ा किया और पीछे से बुर्क़ा फाड़ कर उनकी गीली कच्ची नीचे कर दिया। आंटी के गोर चूतड़ देख मेरा तो दिल धड़कने लगा और मैं उन्हें अंदर मुँह दे दिया।

थोड़ी झांटे होने के बावजूद भी मैं आंटी की गांड कहते जा रहा था ताकि उन्हें मेरा लिंग लेने में दर्द न हो।

रसोई में काफी गर्मी थी जिसकं हम दोनों पसीने से भर गए। आंटी की छाती पसीने से गीली हो गई और वो और ज्यादा सेक्सी लगने लगी।

कुछ देर तक गांड चाटने पर आंटी की चुत और जायदा फूल गई और उसमे से पानी की लार टपकने लगी। साफ पता लग रहा था की आंटी चुत की चुदाई चाहती है।

आंटी – अहह राघव पुर पुर से चाट कर मुझे और पागल मत करो !!

राघव – नहीं मैं पहले आपके शरीर से निकलने वाले रस का स्वाद लेना चाहता हूँ।

मैं इसी तरह मुस्लिम आंटी की चुदाई अपनी जुबान से करने लगा और आगे आंटी अपनी ही कोमल छाती जोर जोर से नोचने लगी।

उसके बाद मैंने अपना लिंग पजामे से बाहर निकाला और आंटी के सामने खड़ा हो गया। मुस्लिम आंटी प्यार से मेरी आँखों में देखती हुई नीचे बैठी और मेरी गोटिया चूसने लगी।

चुदाई की कहानी 2020; जमादारनी की चुदाई भाग 1

आनंद से मेरा लिंग खड़ा हो गया और शान से अपनी नसे दिखने लगा। मोटा और सख्त लिंग नसों से भरा था जिसका ऊपरी मोटा हिंसा देख मुस्लिम आंटी के मुँह से पानी टपकने लगा।

उन्होंने गोटिया चूसने चाटने के बाद मेरा लिंग पकड़ा और अपना मुँह खोल कर लिंग का सूपड़ा अपने होठो में भर लिया। उनके सेक्सी कोमल होठ मेरे लाल टोपे को चूस रहे थे और जुबान चाट रही थी।

देखते ही पता लग रहा था की आंटी के काफी वक्त से सेक्स और लिंग के सपने आ रहे थे।

(इस से पहले लिंग से पानी निकलता राघव ने आंटी को उठाया और उनके गंदे होठो पर चूमने लगा। आंटी ने राघव के होठो से अपनी चुत का स्वाद लिया तो राघव ने आंटी के होठो से अपनी लिंग का। उसके बाद राघव ने झटके से आंटी को घुमाया और उनका बुर्क़ा कमर तक फाड़ कर गांड बाहर निकल दी।)

मैंने आंटी का बुर्क़ा फाड़ा गांड बाहर निकल कर उनकी एक टांग उठाई और उसे रसोई की स्लैप पर रख दी। आंटी से अपनी टांग उठाई नहीं जा रही थी पर ऐसा करना जरूर था क्यों की इसी तरह तो muslim aunty ki chudai करने का मजा आता। मेरा लिंग पहला ही थूक से सना हुआ था और आंटी की चुत गीली थी। मैंने अपनी ऊँगली पर थूका और उसे पहले मुस्लिम आंटी की गांड चोदी और उसके बाद अपने लिंग से उनकी चुत।

आंटी आंखे बंद कर मेरे लिंग को अपनी योनी में महसूस करने लगी और धीरे धीरे उनकी चुत पानी पानी होने लगी। काफी समय से सेक्स न करने की वजह से मुस्लिम आंटी की चुत अंदर से टाइट हो गई थी जिस कारण लंड पर अच्छी पकड़ बन रही थी। टोपा अंदर की चुत में खुदाई कर रहा था तो गोटिया बाहर की चुत पर पिटाई

गांव की देसी भाभी को चूस चूस कर चोदा भाग-2

दोस्तों उम्मीद है की अब तक की मेरी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पढ़कर आपके लिंग से पानी छूट गया होगा अगर नहीं तो मेरी मुस्लिम आंटी की चुदाई कहानी अंत तक पढ़ना।

आंटी को चोदते हुए मैंने उनके बार खींचे और उन्हें अपनी आँखों में देखने के लिए मजबूर कर दिया। मैं जोर जोर से अपनी कमर हिला हिला कर चुत पर गोटिया मारता रहा तो चुत अंदर से रगड़ता रहा। काफी आनंद आ रहा था साथ ही साथ आंटी की चुत धीरे धीरे पानी छोड़े जा रही थी जिस कारण मेरी गोटिया और जाँघे गीली हो गई। हमारे शरीर से चुदाई के पानी की बू आने लगी और पुरे घर में गांड पर पढ़ने वाले झापडो की आवाज गूंजने लगी।

ऊपर से आंटी की तेज सासे और सेक्सी कोमल आवाजे पुरे घर में सुनाई पड़ रही थी। अच्छी बात ये थी की उनके बच्चे स्कूल कॉलेज गए थे और मेरे पिता जी को सुनाई कम पड़ता था।

मैंने अपने दोनों हाथ आगे बढ़ाये और आंटी के स्तन दबोच लिए और उन्हें मसलने लगा। अपनी कम मैं किसी मशीन की तरह चला कर मुस्लिम आंटी की चुत चोद रहा था। आंटी पूरी मदहोश थी, चुत से पानी निकल रहा था और छाती से पसीना।

खिला खिला के पिज़ा छत पर दबोचे जीजा

कूल्हे हिला हिला कर मेरे चूतड़ों में दर्द होने लगा और मैं रुका नहीं। अपने कड़े लिंग से मुस्लिम आंटी की चुत चोदता रहा। धीरे धीरे रसोई की गर्मी से हमारा शरीर पसीने से भीग गया।

मैंने आंटी की तंग नीचे राखी और उन्हें बाहर पड़े सोफे पर बैठा दिया और टंगे खोल कर उनकी चुत चांटे लगा। काली चुत पानी पानी हो रही थी और आंटी को मुझ से प्यार होने लगा था। जो मौका मिलता वो मेरी गर्दन पकड़ मेरे होठो पर चूमने लगती।

काफी आनंद आ रहा था। ऐसा लग रहा था जैसे मुझे अपनी जिंदगी का प्यार पिगया हो। आंटी की मोटी छाती मैं दबोच कर चूसने लगा तो आंटी की ससे तेज हो गई।

उन्होंने नीचे हाथ बढ़ाया और मेरा लिंग हिलने लगी और टोपा अपनी चुत पर रगड़ने लगी। इस तरह मेरी मुस्लिम आंटी की चुदाई कहानी अपने आधे रस्ते तक जा पहुंची।

(राघव ने अपना लिंग आंटी की चुत पर रहा और उसे जोर जोर से ऊपर नीचे हिलने लगा। इस तरह उसके लिंग का टोपा आंटी की चुत के होठो को जोर जोर से रगड़ने लगा और आंटी बेकाबू हो गई।)

आंटी – अहह अहह अहह अहह अहह ुह्ह्हह्ह अह्हह्ह्ह ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह !! और करो और जोर सी !!! अह्ह्ह !! उह्ह्ह !! अहह।

राघव – आआआआ !! अहह आंटी !! आपकी चुत !! अह्ह्ह अहह उह्ह्ह !!

आंटी – राघव बीटा अब अंदर डाल भी दो इस से पहले पानी बाहर निकल जाए !!! अहह !

राघव – अहह अह्ह्ह ुह्ह्ह्ह !!!

(राघव आंटी का बुर्क़ा छाती की और से पूरा फाड़ता है और उनकी ब्रा खोल कर कमरे के कोने में फेक देता है।)

मैंने हड़बड़ी में आंटी की छाती और पूरा बाहर निकला और उन्हें चूसने लगा। चूसते हुए मैंने उनकी पानी पानी होती हुई चुत में अपना लिंग घुसाया और आंटी को अपने बच्चे की माँ बनाने की पूरी कोशिश करने लगा। आंटी मेरी पीठ तो कभी कंधे अपने सेक्सी होठो से सेहलए जा रही थी और पूरा आनंद ले रही थी।

रंडी को चोद कर उसका घमंड तोडा !! भाग 2

मेरा सतख मर्दाना शरीर आंटी के कोमल शरीर को जोर जोर से पेल रहा था और आंटी की चीखे निकल रही थी। मैंने जल्दी से आंटी के मुँह को अपने एक हाथ से दबोचा और उनकी आवाज दबा कर और जबरदस्त चुदाई करने लगा।

दोस्तों किसी अनजान की चुदाई करने में जो मजा है वो शायद ही किसी खुश किस्मत को पता होगा। मैं हर तरह से अपनी गांड हिला हिला कर आंटी को चोदे जा रहा था। मेरी कमर की बार से उनकी जाँघे अंदर से लाल हो गई और चुत गोटियों की मार से सूज गई। लैंड की रगड़ से आंटी को चुत के अंदर जलन होने लगी और वो गीली होती है।

दोस्तों ये जो भी मैं आपको बता रहा हूँ ये सब इसी साल 2021 के लॉकडाउन में हुआ है। मैंने मुस्लिम आंटी की लॉकडाउन में जबरदस्त चुदाई की और चुत की खुदाई कर उसे और बड़ा कर दिया।

आंटी (चिलाते हुए) – राघव मुझे और पेलो !! मुझे छोड़ो !! ऐसा समझो की मैं तुम्हारी रंडी हूँ !! तुम जो चाहो वो कर सकते हो मेरे साथ !!

राघव (आंटी के होठो पर चूमता हुआ) – अहह अहह आंटी अहह आंटी !! अहह अम्म्मम्म अहह अम्मम्म अह्ह्ह !!! 🤪

लंड चुत – पट पटपटपटपटपटपटपटपटपटपटपटपट भाड़ भाड़ भाड़ भाड़ भाड़ भाड़ भाड़ पटपटपटपटपटपटपट !!! 💦💦💦💦

आंटी – अहह अहह ये सेक्सी चुदाई की आवाजे सुने मुझे काफी साल हो गए थे !! जब भी सुनाई पड़ती है तो मेरी चुत पानी छोड़ देती है !!!!

राघव – आंटी मैं तो आपको जोर जोर से शोर मचा मचा कर चोदना चाहता हूँ !! अहह अह्ह्ह अह्ह्ह! 💦💦💦💦

लंड चुत – भाड़भाड़भाड़भाड़ भाड़भाड़ भाड़भाड़ भाड़भाड़ घप घप घप घप घप घप !!!💦💦💦💦

आंटी – अहह बेटा तुम जैसे चाहो वैसे सम्भोग करो मेरे साथ पर अपना पानी अंदर मत छोड़ना !!!

राघव – अहह अहह अहह !! आंटी !! अह्ह्ह !! पता नहीं हो भी पायेगा की नहीं !!!!

(इस तरह राघव आंटी कभी आंटी की छाती चूसता तो कभी होठो को चूमता हुआ आंटी को पेलता रहा। मुस्लिम आंटी अपना सब कुछ छोड़ छाड़ कर अपने से कम कमर के लड़के की दीवानी हो गई।)

चुत लंड का पानी निकला पर चुदाई नहीं रुकी !!

देखते ही देखते मुस्लिम आंटी की चुत ने मलाई छोड़ डाली जिसके चलते चुत और आनंद से भर गई। रस भरी चुत चोद चोद कर मेरा लिंग लंड बेकाबू हो गया और गोटियों में भरा माल बाहर निकल चुत के साथ होली खेल लिया।

पर मैं रुका नहीं। लिंग से पानी निकलने के बावजूद भी तो डंडे की तरह खड़ा रहा और दर्द करने लगा। पर मैं रुका नहीं दर्द करते लाल लंड से ही आंटी की सूजी चुत चोदने में लगा रहा। मुस्लिम आंटी की चुदाई कर मेरा लिंग और गोटिया लाल हो गई पर रुकने का दिल नहीं कर रहा था।

देसी भिखारी के साथ चोदा चोदी

आंटी को चुम कर एक बार नीचे क्या देखा मेरी आत्मा का भी लंड खड़ा हो गया। नीचे चुत लंड की माली से गांड मचा हुआ था और काफी सेक्सी लग रहा था। माल की लम्बी लम्बी लारे मेरे चूतड़ों और गोटियों से उछाल कर पीछे फर्श पर गिर रही थी।

मुसलमान आंटी ने अपने दोनों हाथो से मेरे चूतड़ों को दबोच रखा था और मुझे से पानी चुत और जोर से चुदवा रही थी। इस तरह मैंने बुर्क़ा फाड़ कर आंटी को उठा पटक कर चोद डाला।

आंटी के बुर्क़ा और दूसरे पहने कपड़ो के चिथड़े उड़ चुके थे। और हमारे लंड चुत एक दूसरे को और सुजा रहे थे। आनंद से हम दोनों के दिमागं में नशा सा हो गया था।

दिल कर रहा था की और जोर से चोदू। इस से पहले दूसरी बार पानी निकले मैने अपनी पज़िशन बदली। आंटी वैसे ही टांगे खोल कर सोफे पर पड़ी रही और मैं उल्टा हो गया।

मैंने अपने दोनों हाथ जमीं पर टिकाए और आंटी की तरफ अपने चूतड़ कर टांगे उनके सर के अगल बगल टिका दी। इस तरह आंटी मेरे हिलते चूतड़ और लटकती गोटिया देखते हुए चुदाई का मजा लेने लगी।

मैं जोर जोर से अपना लंग चुत पर मरने लगा और आंटी मेरी गोटिया पकड़ उन्हें अलग अलग तरह से दबाने लगी और मुझे दर्द होने लगा।

आंटी मुझे इस गन्दी पोज़िशन में चुदाई करता देख और सेक्सी हो गई। उन्होंने एक हाथ से मेरी गोटिया दबाना शुरू किया तो दूसरे से मेरी गांड में ऊँगली कर डाली।

इस तरह और मुझे अलग अलग तरह से दर्द और मजा देती रही और मुझे दर्द से चिलता और हफ्ता देख आनंद लेने लगी।

कॉल बॉय जॉब इन दिल्ली

देखते ही देखते अहसानक चुत से पानी निकल पड़ा और इस बार मलाई नहीं तेज पानी धार जो मेरे पुरे शरीर को भीगा दी।

सारा पानी रिस्ता हुआ मेरे मुँह तक आ गया और कुछ छूटे तो मेरे होठो पर पड़ गई जिनका मैं स्वाद लेने लगा। आंटी की चुत पानी छोड़ने लगी तो मैं और जोर जोर से उनकी चुत पीटने लगा।

दर्द काफी हो रहा था पर मैंने उसी वक्त अपना माल छोड़ दिया। अचानक जैसे ही आंटी को पता लगा तो उन्होंने चुत से लंड निकल कर मुझे ऊपर खींच लिया और हम दोनों 69 पोज़िशन में आ गए।

उन्होंने जल्दी से मेरा लिंग अपने मुँह में लिया और उस से निकलता सफ़ेद पानी अपने गले से नीचे उतार लिया। दूसरी तरफ चुत चाटने लगा और चुत से निकली तेज धार का स्वाद लेने लगा।

भिखारिन के भोसड़े का भरता

उसके बाद हम तक कर चकना चूर हो गए और नंगे ही पड़े रहे और 69 पोज में धीरे धीरे एक दूसरे के लंड चुत को चूसते चाटते हुए सो गए। इसके बाद जब पिता जी मुझे ढूंढ़ते हुए आवाज लगाने लगे तो मैं वापस नहीं लोटा क्यों की मैं आंटी के साथ सो रहा था। मुझे ढूंढ़ते हुए वो ऊपर आए तो उन्होंने मुझे नंगा आंटी के साथ सोता हुआ पाया।

उसके अब उन्होंने मुझे घुसे से अपनी लाठी से पीटना शुरू कर दिया और आंटी ने अपने बदन पर कपडे लपेट लिए।


अब दोस्तों अपनी कहानी का अंत मैं यही करना चाहुगा उम्मीद है आपको मेरी बुर्क़ा फाड़ कर मुस्लिम आंटी की चुदाई कहानी पसंद आयी होगी। इस तरह की देसी चुदाई कहानी पढ़ने के लिए आप मुझे मेल भेज कर मुझ से और कहानियो की मांग कर सकते है तब तक के लिए मुझे इजाजत दे।

धन्यवाद!!

[email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts

47 Comments

  1. कोई छोटी उम्र का लड़का है जो मेरे साथ सेक्स करना चाहता है?

    1. Jitendra Yadav 21mo 9381244904. Kash meri 2 biwi hoti ek ki chati badi hoti or dusri ke chutad toh mja aa jata. Phli biwi ki badi chati chusta hua dusri wali ke bade chutado ko chodta.

  2. सेक्सी चुदाई काश मैं भी इसी तरह की कोई रसीली औरत चोद पाता !! कहानी लिखने वाले ने काफी मेहनती है इस चुदाई कहानी में।

  3. बड़ा बड़ा लंड टाइट टाइट चुत और बड़े बड़े थन। काश हमारा बीवी भी सेक्सी होता तो रोज चोदता हम।

  4. ये कहानी काफी हॉट थी मैं नीचे से गीली हो गई पर क्या मुझे कोई बताएगा की इस कहानी का दूसरा भाग भी है या नहीं ?

    मैं जाना चाहती हूँ की कही आंटी राघव से शादी तो नहीं कर बैठी।

  5. मेरे भी बड़े बड़े थन है पर पता नहीं क्यों मेरे पति उन्हें हाथ तक नहीं लगाते। पहले तो बड़ा चूसा करते थे। मुस्लिम आंटी की सही चुदाई हो गई यहाँ तो।

    1. Kanika mujhse milo mai aise hi karuga mast tumko khub
      Allahabad Uttar Pradesh se hu milna ho to bolo safe room hai mere pass

  6. Koi ladki GF bnegi meri? kasm se khub choduga or isi trha ki hindi sex kahani likhuga bs koi aa jao gotiyo ke niche.

  7. मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है क्या कोई बात करना चाहेगा?

  8. ये सेक्स कहानी कामुक तो है ही साथ ही साथ हमे ये भी सिखाती है की मुस्लिम और हिन्दू अलग अलग नहीं है। ये बस इंसान है जो शारीरक संतुष्टि चाहते है और अलग अलग धर्म को मानते है। मजा आ गया देसी चुदाई पढ़कर।

  9. Jis kisi ko mujhse koi kaam ho contact kar sakte hy may allahabad se hu. Agr koi randi ka jugad kr skta hai toh jarur btana

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *