| | | |

गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा

गर्लफ्रेंड होना काफी कम लोगो को नसीब होता है। और अगर गर्लफ्रेंड सेक्स के लिए मन जाए तो उस लड़की से शादी जरूर कर लेनी चाहिए। पर निर्मल ने अपनी मालदार गर्लफ्रेंड को होटल के कमरे में खूब बेशर्मो की तरह चोदा और उसके शरीर से निकलने वाले पानी को भी चाट चाट कर साफ किया। अब उन्होंने गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा और फिर वह से क्यों भागे ये तो उनकी कहनी पढ़कर ही पता चलेगा।


अपनी इस कहानी में मैं आपको बताने जा रहा हूँ कैसे मेने अपनी गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा और उसे वही छोड़ कर भाग आया। हेल्लो दोस्तों मेरा नाम है निर्मल और चलिए शुरू करते है बिना किसी बकचोदी के। 

मेरी ये चुदाई कहानी आज से करीब 2 साल पहले की है जब मेरी नई नई बंदी बनी थी। मैं उस वक्त दिल्ली में रहता था और कॉलेज में पढाई कर रहा था। 

(अब दोस्तों आप को तो पता होगा की दिल्ली में कितनी लड़की बाजी चलती है। दिन में सारे लड़के अपनी गर्लफ्रेंड के साथ चुदाई करते थे और रात को रंडियो के साथ।) 

कॉलेज के सारे लड़के अपनी लड़कियों के साथ मौजमस्ती करते थे बस मैं ही था जो मुठ मारा करता था। तभी किसी तरह मेरे एक दोस्त ने मुझे एक लड़की से मिलवाया। 

और कुछ महीनो में मेरी उस से सेटिंग हो गई। अब ये सब कैसे हुआ मैं यहाँ नहीं बताना चाहता क्यों की कहानी काफी लम्बी हो जाएगी। 

खेर वो लड़की सावली थी और उसका चेहरा दिखने में सुंदर भी नहीं था पर उसके शरीर की सुडौलता देख मैंने उस से सेटिंग कर ली। 

उस लड़की का नाम वर्षा था जिसके स्तन अच्छे खासे बड़े थे। साथ ही साथ उसकी गांड और जांघ भी काफी सेक्सी और हॉट थी।  

तो सेटिंग के कुछ महीनों बाद मैंने सोचा की अब सेक्स करने का सही टाइम है। इसलिए मैंने वर्षा को एक रात फ़ोन पर होटल जाने का जिक्र किया। हम काफी वक्त से फ़ोन पर सेक्स कर रहे थे। 

वो हर रात मुझे फ़ोन करती और हम एक दूसरे को कैसे मुठ मारनी है वो बताते। तो उस रात भी यही हो रहा था तो मैंने हिमत कर के ये कहा की वर्षा बेबी अब मैं आपके साथ रियल वाला प्यार करना चाहता हूँ ये फ़ोन वाला नहीं। 

तो वर्षा ने उस वक्त तो मना कर दिया और मैं कुछ नहीं कर पाया पर जब फ़ोन सेक्स से वो भी एक हफ्ते बाद बोर हो गई तो उसने मुझे होटल जाने के लिए कहा। 

मैंने जल्दी से होटल बुक किया और अपने दोस्त को कंडोम लेन को कहा। उसके बाद मैं वर्षा को लेकर सुबह 10 बजे निकल गया। 

मैंने एक दिन का होटल बुक किया था और सोचा था की वर्षा की गांड पुरे दिन चोदुँगा। 

होटल जाते जाते वर्षा बोली ” मैं तुम्हारे साथ जा तो रही हूँ पर जो तुम सोच रहे हो वो मैं नहीं करुँगी।

मैंने कहा – मतलब ?

गर्लफ्रेंड – मैं बस तुम्हारे साथ अकेले में थोड़ा टाइम बिताना चाहती हूँ बस और कुछ नहीं। 

अब गर्लफ्रेंड जो भी बोले मुझे घंटा फर्क नहीं पड़ रहा था क्यों की मैंने तो सोच रखा था की बस एक बार ये होटल के कमरे में घुस जाये फिर इसकी जमकर चुदाई करुगा। 

जब बाइक पर बैठे बैठे वर्षा के चुचे मेरी पीठ पर रगड़ खाने लगे तो मेरा लंड वही खड़ा हो गया और मैं अपनी कामवासना को काबू नहीं कर पाया। 

खड़ा लंड देख गर्लफ्रेंड बोली ” कितना कमीना है तू क्या सोच रहा है ? “

वो मेरा लंड देख हसने लगी और मैं बाइक चलाता रहा। 

कुछ देर बाद मैं उसे लेकर होटल के कमरे में चला गया और अंदर जाते ही वर्षा बिस्तर पर बैठी और मुझे अजीब तरह से देखने लगी जैसे मैं उसके साथ कुछ जोर जबरदस्ती करने वाला हूँ। 

पर मैंने ऐसा कुछ नहीं किया अंदर जाते ही मैं भी उसके साथ बैठा और कहा ” अब बोलों कैसे हो आप ? “

वर्षा सोच रही थी की अंदर जाते ही मैं उसके साथ चूमना चाटी शुरू करदूंगा इसलिए वो डरी हुई थी। 

हमने कुछ देर तक आराम से बाते की और उसके अंदर का सारा डर निकल गया। 

अब बाटे करते करते हम गन्दी और अश्लील बाते भी करने लगे और मैंने अपना हाथ उसके हाथ पर रख दिया। 

उसी वक्त वर्षा को मेरा खड़ा लंड यद् आया और वो सेक्सी फील करने लग गई। 

उसने मुझे प्यार से देखा और मेरी गर्दन पर हाथ रख और मुझे होठो पर चूमने लगी। 

वर्षा का चेहरा सुंदर नहीं था पर उसका शरीर काफी सेक्सी और हॉट था जिसकी मैं चुदाई करना चाहता था। 

वर्षा अपने रसीले होठो से मेरी ज़बान को चूसने लगी और उसे बाहर की तरफ खींचने लगी। 

मैंने अपना हाथ उसकी पतली कमर पर लपेटा और दूसरे हाथ से उसकी जांघों को सहलाता रहा। 

वर्षा कभी मेरी गर्दन पर चूमती तो कभी होठों पर। वो अपने सुंदर हाथो से मेरे पूरे शरीर को छू रही थी। 

वो इतनी सेक्सी थी की मेरा लंड खड़ा और गया टोपे से पानी निकलने लगा। 

मैंने जल्दी से विरहसे की शर्ट खोली और उसके स्तन ब्रा के ऊपर से दबाने लगा। 

उसके निप्पल खड़े था जिनका रंग लाल हो रखा था। उसकी सेक्सी ब्रैस्ट देख मुझ से रहा नहीं गया और मैं उन्हें चूसने लगा। 

धीरे धीरे वर्षा गर्म होने लगी और वो अपना एक हाथ अपनी जीन्स में डाल कर मुठ मारने लगी।  

उसने पहले अपनी बड़ी वाली ऊँगली मेरे मुँह में डाली और जब वो मेरे थूक से गीली हो गई तो उस से अपनी चुत में डालने लगी। 

वर्षा के मोटे स्तनों से मेरी आंखे ही नहीं हर रही थी मैं उसके भूखे जानवर की तरह चाट रहा था। 

कुछ देर बाद वर्षा ने अपना दूसरा हाथ मेरे लंड पर रखा और उसे दबाने लगी। 

जब नजर पड़ी तो पता लगा की वो अपने साथ साथ मेरी भी मुठ मार रही है। 

मैंने जल्दी से अपनी पैंट खोली और उसके सामने अपना खड़ा लंड लेकर खड़ा हो गया। 

वर्षा ने अपनी जीन्स में से हाथ निकला और उसी हाथ से मेरा लंड हिलाने लगी। उसके हाथ पर उसकी चुत का रस लगा था जो काफी लसलसा था। 

वर्षा पूरी दिलचस्पी के साथ मेरे लंड को हिला रही थी। वो कभी मेरा लंड हिलाती तो कभी मेरे टटे पकड़ उनके साथ खेलती। 

जिंदगी में पहली बार मेरा लंड किसी और ने पकड़ा था आज तक जब भी खड़ा होता तो मेरे ही हाथ लगता था। 

दोस्तों मैं बता नहीं सकता की कैसे लगता है जब कोई लड़की अपनी सुंदर हाथो से हमारा सख्त लंड पकड़ती है। 

उसके हाथो के लम्बे नाख़ून मेरे लोडे पर चुभ रहे थे और गर्म नरम हाथ मेरे लंड को आगे पीछे हिला रहे थे।   

कुछ ही देर में मेरे लंड के मुँह से चिपचिपा पानी निकलने लगा। मेरे लंड की लार टपकती देख वर्षा को ज्यादा सेक्सी फील करने लगी और उसने अपनी जीन्स का बटन खोला और मुझे देखने लगी। 

मुझे उसका इशारा शम्ज आया और मैं उसकी जीन्स उतार कर उसकी कच्छी खींच लिया। 

अच्छी उतरने के बाद मैंने उसकी सेक्सी जाँघे खोली तो अंदर से झाटो से भरा काला भोसड़ा निकला। 

गीला गर्म भोसड़ा देख मेरा लंड दर्द करने लगा। मैं आगे बड़ा और वर्षा की चुत में अपना सामान दाल कर उसे धीरे धीरे आगे पीछे हिलाने लगा। 

दोस्तों मैंने पहली बार किसी लड़की की चुत में लंड डाला था। वर्षा की चुत अंदर से गर्म, नरम, और लसलसे पानी से भरी थी। 

मुझे काफी आनंद आ रहा था और मैं उसके चोद रहा था। 

तभी मेरे दिमाग में आया की अगर मैं वर्षा को सेक्स का पूरा मजा दुगा तभी वो मेरे साथ दोबारा सेक्स करेगी। 

तो मैंने अपने दोनों हाथ उसकी कमर के साथ रखे और अपने पेरो पर खड़ा हो कर अपने कूल्हे हिलने लगा। 

मैं जोर जोर से विरहसे के खुले पेरो की बेच अपनी कमर मारने लगा और उसकी चुत को अंदर से रगड़ता रहा। 

वर्षा के दूध आगे पीछे हिलने लगे जिनका भार वो अपने हाथो से संभाल रही थी। 

मैं कूद कूद क्र वर्षा की चुदाई करता रहा और कमरे में तेज झापडो की आवाज गूंजने लगी। 

चुदाई के दौरान वर्षा का मुँह कुल रहा और वो मुझे अपनी प्यार और सेक्सी आँखों से देखती रही। 

वर्षा कभी नीचे अपनी चुदती चुत को देखती तो कभी मेरी आँखों में उसके काफी मजा आ रहा था। मैं भी बार बार उसके होठो से अपने हाथ लगा रहा था और वो अपने हाथो से अपनी खड़ी चूचियां खींच रही थी। 

इतना जबरदस्त सेक्स करने के बाद वर्षा का शरीर कापने लगा और उसकी चुत से सफ़ेद मलाई निकलने लगी। मलाई निकलते ही वर्षा शांत हो गई और मैं नहीं। 

मैं लगातार उसकी मलाईदार चुत में लंड डालता रहा और चिकनी चुत का मजा लेता रहा 

मैं जोर जोर से पूरा जानवर की तरह अपनी गांड हिला हिला कर उसे चोदता रहा। मेरे लिंग पीछे तक खींच गई थी और काफी दर्द हो रहा था। पर मैं रुका नहीं उसके बड़े बड़े थन अपने मुँह में दबोच कर मैं उसकी मोटी चूचिया कभी चुस्त तो कभी दातो से दबाता।

थोड़ी थोड़ी देर बाद मैं उसके होठो को भी चुम लेता। अब वर्षा को अपनी योनी में दर्द होने लगा मेरे लंड की तेज रगड़ से पहले तो उसे खूब मजा आया पर अब उसे सजा मिल रही थी।

तभी मेरा भी झाड़ गया। 

झड़ने के बाद भी मुझ में इतना जोश था की मैं उसकी चुत थोड़ी देर और चोदता रहा। 

और अंत में अपना लंड पूरा अंदर घुसा कर वर्षा को गले लगा कर लेता रहा। 

तभी मेरे दिमाग में आया की मैंने तो कंडोम पहना ही नहीं था !!

तभी मेरी गांड फटने लग गई क्यों की मैंने अपना माल उसकी चुत के अंदर झाड़ दिया था और ऊपर से पिछले 10 मिनट तक अपना लंड भी अंदर घुसा कर रखा था। 

वर्षा वही की वही सो गई और मैं जल्दी से कपड़े पहन कर वहा से भाग गया। तो दोस्तों इस तरह मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को होटल में चोदा। होटल से निकलते ही मैंने अपने फ़ोन का नंबर बंद किया और आगे 3 महीने के लिए गायब हो गया।

उसके बाद जो हुआ मैं नहीं बताना चाहता लेकिन आप सभी और इतना जरूर कहुगा की सेक्स करते वक्त कंडोम जरूर लगाए इस तरह आप सेक्स की कई सारी बीमारियों से बच सकते है और अपनी गर्लफ्रेंड गर्भवती भी नहीं होगी।  

इन कहानियॉ को भी जरूर पढ़े !!

 

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
713
+1
71.7k
+1
76
+1
1
+1
2
+1
4
+1
2

Similar Posts

6 Comments

  1. Girlfriend ho toh lnd chusne wali. main us ladki keliye kuch bhi kruga jo mera lnd hr din chusegi. this is best desi kahani !

  2. गर्लफ्रेंड तो होती ही चुदाई के लिए है। शहर की लड़किया रंडिया होती है बस खर्चा करवाती है और चुत नहीं देती। जब मैं अपनी गर्लफ्रेंड को चोदुँगा तो इस वेबसाइट पर भी अपनी अन्तर्वासना कहानी जरूर भेजुंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *