Desi Sex Story | Hindi Sex Stories | XXX Stories

चुदाई की कहानी 2020; जमादारनी की चुदाई भाग 3

अब जमादारनी की चुदाई के लिए मैं कमरे का जुगाड़ करने लगा तभी मुझे यद् आया की इसे ओयो होटल लेजा कर चोदता हूँ। इस तरह बात हम दोनों के बीच ही रहेगी। दोस्तों ये मेरी चुदाई की कहानी 2020 का तीसरा भाग है अगर अपने पहले के दो भाग नहीं पढ़े तो नीचे दिए गए लिंक पर जाए।

चुदाई की कहानी 2020; जमादारनी की चुदाई भाग 1

चुदाई की कहानी 2020; जमादारनी की चुदाई भाग 2

अब दोस्तों इसी तरह महीने निकल गए और मैं और जमादारनी फ़ोन पर गन्दी बाते करते रहे। मैं उस से हर रात चुत रगड़वाता तो कभी थन दबाने को कहता। बदले में वो भी मुझे अपना लंड हिलाने को बोलती। साथ ही हम एक दूसरे को अपनी गन्दी वीडियो और फोटो भी खींच कर भेजते।

उसका फ़ोन रिचार्ज करने के बाद तो मैं उसके साथ वीडियो कॉल पर ही सेक्स करने लग गया।

बस इसी तरह उसका भरोसा मुझ पर बढ़ गया और वो मुझे खुद कमरे में चलने को बोलने लगी।

बस इसी तरह लॉकडाउन का अंत हुआ और मैं जमादारनी की चुदाई करने के और करीब आ गया।

भिखारिन के भोसड़े का भरता

जमादारनी को होटल लेजा कर चोदा !

अब लॉकडाउन में ढील मिलने लगी तो मैंने जल्द से जल्द OYO का कमरा बुक कर दिया।

अगले ही दिन मैं जमादारनी को अपनी बताई पर बुलाया और वो अपने सबसे अच्छे कपड़े पहन कर आ गई।

उस दिन उसे देखने में पता ही नहीं लग रहा था की वो जमादारनी थी। चलो बहाने मेरी भी इज्जत बच गई।

अब दोस्तों कमरे में जाते ही जमादारनी मेरी आँखों में देखने लगी। पर उस वक्त मुझे पता नहीं क्यों घिन आने लगी।

पर क्यों की मैं उसे लेकर कमरे में जा चूका था अब मैं रुकने वाला नहीं था। बस लंड खड़ा होने की देरी थी फिर उसके बाद तो OYO वालो का पलंग टूटने वाला था।

जमादारनी ने मुझे देखते हुए अपनी चुनी नीचे गिराई और मैं उसपर लपक पड़ा।

देसी भिखारी के साथ चोदा चोदी

मैं जमादारनी को कमरे की दीवार से चिपकाया और उसके होठो को बिना रुके चूमने लगा उसने भी मेरे कंधो पर हाथ फेरना शुरू कर दिया। अब चूमते हुए मैंने उसके सूट के ऊपर के ही छाती को दबाना शुरू कर दिया।

मुझे नहीं पता था की जमादारनी का बदन भी इतना कोमल और सेक्सी हो सकता है। जमादारनी को पूरा मजा आ रहा था और वो अपने हाथ से मेरी जीन्स के ऊपर से लंड सहलाने लगी।

चूमते हुए मैं उसकी गर्दन पर आया और उसके सूट के अंदर अपने हाथ घुसा दिया।

अंदर घुसा कर पीछे से पहले तो मैं उसकी ब्रा खोला और उसे उतार कर नीचे से निकाल दिया।

उसके बाद मैंने उसके नरम कबूतर अपने हाथ में दबोचे और प्यार से दबाता हुआ पूरा मजा लेने लगा।

नौकरानी और मालिक की चुदाई

साथ ही जमादारनी भी मेरे जीन्स का बटन खोली और मेरे कच्छे में हाथ हाथ डालकर लंड खड़ा करने लगी।

उसके बाद जैसे ही मेरा लंड खड़ा हुआ मैं तो पागल ही हो गया। जमादारनी के ठन्डे हाथ मेरे गर्म लिंग को अलग अलग तरह से हिलाने लगे और मैं उसका सूट उतार कर कमरे के दूसरे कोने में फेक दिया।

जब उसके बड़े बड़े थन और मोटी काली चूचिया मेरे सामने आई तो मैं छोटे बच्चे की तरह उन्हें चूसने लगा।

बस फर्क यह था की मैं जोर जोर से दोनों चूचिया चूसने में लगा था। जमादारनी अंदर ही अंदर गीली होने लगी और बोली “अहह साहब ऐसा एहसास और इतना प्यार मुझे आज तक कोई नहीं दे पाया !”

मैं एक पल के लिए रुका और उसे खींच कर बिस्तर पर लेटा दिया और पैर से होठो को दो बार चूमने के बाद बोला “अभी तो तू देखती जा !!”

बस दोस्तों ये थी मेरी Antarvasna Kahani का तीसरा भाग अगला भाग नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर के पढ़े।

चुदाई की कहानी 2020; जमादारनी की चुदाई भाग 4

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts