Desi Sex Story | First Time Sex Story | Hindi Sex Stories | XXX Stories

अनजान आदमी ने खुले पार्क में चोद डाला Part – 1🥺🍌

वैशाली दिल्ली की रहने वाली 21 साल की लड़की है। उसने आज तक कभी सेक्स नहीं किया था पर जब किसी अनजान आदमी ने उसे खुले पार्क में दबोच कर चोदा तो डर के मरे वैशाली ने अपनी योनी से पानी छोड़ दिया। उसे लिंग का एहसास पहली बार हुआ था और उसके बाद उसे लंड की लत लग गई। अब वैशाली ने किसी अनजान से चुदाई क्यों की ये तो आपको उसकी चुदाई कहानी पढ़कर पता चलेगा।

मेरा नाम वैशाली है और मैं दिल्ली की रहने वाली 21 साल की लड़की हूँ। मेरा वजन थोड़ा ज्यादा है पर मैं देखने में अच्छी हूँ। खासकर मेरी जाँघे और छाती काफी बड़ी है जो हर लड़के को अपनी तरफ खींचती है। मेरी अन्तर्वासना हिंदी सेक्स कहानी का नाम “अनजान आदमी ने खुले पार्क में चोद डाला” पढ़कर आप लोग समज ही गए होंगे की इस कहानी में क्या होने वाला है।

(शाम 4 बजे मैं पार्क में बैठी अपने फ़ोन में गाने सुन रही थी उसी दौरान एक गन्दा सा आदमी दूर से मुझे देखने लगा।)

उस दिन मैं टूशन नहीं जाना चाहती थी क्यों की रोज रोज एक जगह जा रक मैं परेशां हो गई थी। घर वाले बस पढाई के लिए जोर दिया करते और उसके अलावा मुझे कुछ नहीं करने देते थे।

मैं करीब 4 बजे अपने घर के करीबी पार्क में जाकर लेट गई और फ़ोन पर गाने सुने लगी। धीरे धीरे धुप तेज होने लगी तो मेरी एक आदमी पर नजर पड़ी जो मुझे काफी समय से देखे जा रहा था।

शादी के पहले दिन ही चुदाई

वो आदमी करीब 30 साल का लग रहा था और उसकी सफ़ेद दाड़ी थी। साथ ही साथ वो थोड़ा लंगड़ा कर चल रहा था और उसे काफी गंदे कपडे पहने थे। वो दूर खड़ा मुझे अपनी गन्दी आँखों से देखे जा रहा था और मुझे डर लगने लगा

मैं धीरे धीरे डरने लगी क्यों की 4 बजे के वक्त पार्क में कोई नहीं होता और उस दिन भी नहीं था। पर मैंने सोचा की आखिर ये मेरा कर ही क्या लेगा न तो मेरे पास पैसे है और न ही महंगा फ़ोन।

मैं उसे नजरअंदाज कर के वापस अपने फ़ोन में गाने सुने लगी। कुछ देर बाद देखा तो वो आदमी थूक मेरे पीछे बैठा अपनी पैंट में हाथ दाल कर मुझे देख रहा था। मैं अचानक से उसे देख डर गई। वो पीछे बैठा मेरी छाती की दरार देख अपने लिंग को सेहला रहा था।

(मैंने हिमत करके उसे बात की और कहा।)

वैशाली – कौन हो और यहाँ आकर क्यों बैठे हो? 😠😠

(उस आदमी ने कुछ नहीं कहा और गन्दी सासे लेता हुआ अपने लिंग को सहलाता रहा।)

वैशाली (चिलाते हुए) – देखो तुम यहाँ से चले जाओ वार्ना तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा !! 😡😡🤬

अनजान आदमी (अपना लिंग हिलाते हुए पैंट से बाहर निकला) – कितने लोगी? 💵

वैशाली – मुझे रंडी समझा है क्या तुमने!!

(उस आदमी ने बीना कुछ बोले वैशाली की आँखों में देखा और अपनी पैंट खोल कर अपना लिंग बाहर निकाल दिया।)

उसका लम्बा लिंग और लटकती भारी गोटिया देख मैं डर गई और मेरा दिमाग काम करना बंद हो गया। मैंने अपने नीचले होठ को दातो के बीच दबाया और आया वहा देखने लगी। मैंने असल में लिंग पहली बार देखा था इस से पहले मैंने बस गन्दी पोर्न में देखा था। उस आदमी का लिंग काफी भरी था और उसे ऊपरी लाल हिसे से कुछ बुँदे भी टपक रही थी।

सुंदर बहन को चोदा और बीवी बनाया

नीचे देखा तो उसकी भारी लटकती गोटिया धीरे धीरे ऊपर नीचे हिल रही थी। ये सब अपनी आँखों के सामने देख मुझे समज नहीं आया की क्या करू।

(पहली बार इतना बड़ा लिंग देख वैशाली की धड़कने तेज हो गई और उसके हाथो में पसीना आने लगा। लिंग देख उसका शरीर मानो वही जम गया और उसकी आंखे उस लिंग पर ही तुक गई। देखते ही देखते वैशाली की चूचियों पर हल्की सी खुजली होने लगी और योनी भी हल्की से फूल कर नम हो गई।)

अपनी आँखों के सामने ऐसा लिंग देख मुझे अलग एहसास होने लगी। एक तरफ मेरा इसे चूसने चाटने का बन कर रहा था तो दूसरी तरफ उसका जानवर सा लिंग देख डर लग रहा था। मैंने मुँह में आता पानी और थूक गतका और उस आदमी से हिमत कर के बात की।

वैशाली – ये क्या गन्दी हरकत है अपने कपड़े पहनो और यहाँ से चले जाओ नहीं तो पुलिस को बुला लगी मैं।

अनजान आदमी (वैशाली के करीब आते हुए) – अच्छा!

वैशाली (कपकपाती आवाज में ) – देखो तुम और करीब आए तो मैं चीला चीला कर शोर माचा दूगी !!

(उस आदमी ने अपना लिंग हाथ में लिया और ऊपरी हिसे पर थूक कर अपने एक हाथ से हिलाने लगा।)

वो मेरी आँखों में बिना किसी डर के देख अपने लिंगे को हिला रहा था और उसकी लटकती गोटिया चलने लगी। मैं उस वक्त काफी डरी हुई थी पर पता नहीं क्यों मेरी कामवासना बढ़ने लगी और मेरी योनी अंदर ही अंदर से पानी छोड़ने लगी।

वो आदमी आगे बड़ा और अपने एक हाथ को मेरी कमर पर रख मुझे अपने करीब खींच लिया और मुझे चुदाई की नजर से देखने लगा। मैं डर के मरे कापने लगी और उसने मेरी गर्दन पर चुनमा शुरू कर दिया। धीरे धीरे मेरा भी मन चुदाई कर करने लगा तो मैंने उसे कुछ नहीं कहा।

(अचानक अनजान आदमी ने वैशाली को चूमते हुए उसका सीधा हाथ पकड़ा और उसे अपने लिंग कर रख दिया।)

मेरा हाथ जैसे ही लूसे लिंग पर पड़ा मेरा हाथ अपने आप कापने लगा। उसका गर्म लिंग काफी भरी था और मैं अपने आप ही उसे धीरे धीरे हिलाने लगी। उसका लटकता लिंग जैसे जैसे में हिला रही थी वैसे वैसे वो और ज्यादा कड़ा होने लगा। ये महसूस कर मेरे अंदर चुदाई की भावनाएं जागने लगी बस डर ये था की हम खुल पार्क में ये सब कर रहे थे।

धीरे धीरे वो आदमी और जायदा गन्दी हरकते करने लगा। उसे मेरा दूसरा हाथ पकड़ा और उसमे अपनी गोटिया धमा दी और गन्दी आवाज में कहा “इन्हे कस कर पकड़ और नीचे खींच !!”

उसने जो कहा मैने किया। उसकी काली गन्दी गोटिया नीचे खींच कर मैं उसका लिंग हिलने लगी और वो मेरी गर्दन से बढ़कर मेरे होठो को चूमने लगा। उसके मुँह से गन्दी बू आ रही थी पर फिर भी वो पल मुझे काफी आनंद दे रहा था।

घर पर सेक्सी रंडी बुला कर चोदी

उसका गर्म सख्त लिंग मैं सीधे हाथ से हिला रही थी तो बड़ी ढंडी और नरम गोटिया मैं बेरहमी से नीचे की और खींच रही थी। वो आदमी दर्द और लिंग के आनंद का पूरा मजा ले रहा था।

देखते ही देखते उसने मेरी कमर से हाथ हटाया और एक हाथ मेरी टाइट जीन्स में डाला तो दूसरा मेरी कमीज में।

वो कच्छी में हाथ डालकर मेरी गांड में हल्की हल्की उनलगी डालने लगा और मेरी छाती को धीरे धीरे दबा कर मेरी चूचिया टाइट करने लगा। इस तरह मेरी क्सक्सक्स चुदाई कहानी की शरुआत हुई जहा मैं एक अनजान से चुदने को तैयार हो गई।

(वो आदमी आसपास देखा और वैशाली का हाथ पकड़ कर मुझे पास की झाड़ियों में ले गया जहा से उन्हें चुदाई करता देखना मुश्किल था।)

वो जैसे ही मुझे झाड़ियों में ले गया मैं समज गई की ये मुझे चोदना चाहता है। मैंने एक पल तो उसका विरोध किया पर उसका भरी लिंग देख मेरी चुत तड़पने लगी।

वैशाली – तुम मुझे वहा क्यों लेजा रहे हो !!

आदमी – मेरे लिंग से पानी निकल रहा है तुम्हारी योनी अभी भी सुखी है क्या?

उसके इस सवाल का जवाब था हाँ। और बस मैं उसके साथ झाड़ियों में चली गई। मेरी चुत के पानी से कच्छी भी गीली हो गई। और दोनों चूचिया इस रहा टाइट हो गई की बाहर से दिखने लगी। वो आदमी भी समज गया की मैं उसके लिंग को देख कामुकता से भर गई हूँ।


दोस्तों मेरी पहली चुदाई की कहानी के पहले भाग का अंत में यही करती हूँ क्यों की ज्यादा बड़ी पोर्न स्टोरी लोग पढ़ना पसंद नहीं करते। कहानी का दूसरा भाग पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे। 

अनजान आदमी ने खुले पार्क में चोद डाला Part – 2

उम्मीद है मेरी कहानी से अपना भी पानी निकला होगा। अगर निकला है तो नीचे कमेंट में बताए और अगर नहीं निकला तो कहानी का दूसरा भाग पढ़े।

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *