| | |

लॉकडाउन में चुदाई की कहानी भाग 2

अपनी पड़ोसन को पीछे से दबोचने के बाद मैं उसके दू थन ब्लाउज के ऊपर से हल्के हाथ से दबाने लगा और पड़ोसन हसने लगी। दोस्तों मेरा नाम रतनलाल है और ये मेरी अन्तर्वासना कहानी का दूसरा भाग है। अगर अपने पहला नहीं पड़ा तो नीचे क्लिक कर के पढ़ सकते है। 

लॉक डाउन में चुदाई की कहानी भाग 1

तो मैं अपनी सिलाई करती पड़ोसन को पीछे से पकड़ा और उसके गले पर चूमते हुए पूरा आनंद लेने लगा। मेरी शादी शुदा पड़ोसन ईशा हसने लगी और बोली “क्या कर रही हो हटो !!”

पर मैं हटा नहीं मैंने कहा “अब कुछ दिन तुम्हारा मर्द घर नहीं आने वाला तो सोचा क्यों न थोड़ा मजा किया जाए !!”

पड़ोसन – पागल हो क्या वो देखो लाडू सो रहा है यहाँ नहीं !!

मैंने कहा – यार न तो तुम्हे होटल जाना है और न मेरे दोस्त के फ्लैट तो करना कहा चाहती हो ? देखो ये सही मौका है तुम्हारा पति कुछ दिन घर तो आने नहीं वाला। इसके अलावा लॉकडाउन की वजह से न तुमसे कोई मिलने आने वाला है !!

पड़ोसन – अहह बात तो है !! पर तुम्हारी बीवी !!

मैं बोला – अरे उसकी टेशन न ले !!

अब ऐसा बोलते ही पड़ोसन मुस्कुरा कर मुझे देखने लगी। मैं धीरे से आगे पड़ा और उसकी आँखों में देखता हुआ उसे चूमने लगा। 

पड़ोसन कभी मेरे होठो को देखती तो कभी मेरी आँखों में। उस वक्त मुझे लॉकडाउन में चुदाई करने का अच्छा मौका मिल गया। 

चूमते हुए मेरी नजर सिलाई मशीन पर गई जहा ब्लाउज पड़ा था। मैंने पूछा “ये ब्लाउज ?”

पड़ोसन हस्ते हुए बोली “क्या ये ? ये टाइट हो रहा था तो मैं इसे थोड़ा खुला कर रही थी। 

इसके बाद मैंने वो ब्लाउज उठाया और पड़ोसन को पहने को कहा। 

पड़ोसन – नहीं नहीं ये तो काफी छोटा है मुझे नहीं आएगा। 

मैंने कहा – हाँ इसी लिए तो मैं कह रहा हूँ। 

पड़ोसन ने मेरे कहने पर अपने ब्लाउज को उतारा और उसके बड़े बड़े दूध देख मेरा खड़ा हो गया। 

अपना ब्लाउज उतार कर उसे पुराना टाइट वाला ब्लाउज किसी तरह पहना और उसे देख मेरा लंड पानी टपकाने लगा। 

ईशा शरमाते हुए अपने थनो के दोनों गुम्बज़ पर हाथ रख कर उन्हें छुपाने लगी पर मैं ऐसा होने नहीं देने वाला था। 

मैंने धीरे से उसे सुंदर हाथों को पकड़ा और वहा से हटा कर अपने हाथ रख दिया और दोनों स्तनों को धीरे धीरे सहलाने लगा। 

पड़ोसन को आनंद आने लगा तो अपनी आँखे बंद कर पूरा आनंद लेने लगी। 

मैं पीछे से धीरे धीरे टाइट ब्लाउज के ऊपर से उसके दोनों थन दबाते हुए उसकी गर्दन पर चूमने लगा। 

मैं धीरे धीरे उसकी नरम छाती दबाते हुए कभी उसके कोमल पेट को सहलाता तो कभी उसके मुँह में अपनी ऊँगली डालता। 

मुझे पूरा मजा आ रहा था और वो भी पूरा मजा ले रही थी। धीरे धीरे करते हुए मेरी हवस बढ़ने लगी और मेरा उसकी छाती जोर से दबने का दिल करने लगा। 

मैं अचानक अपने हाथो को तेज तेज चलाने लगा और उसके दोनों गुम्बजों को जोर से दबाना शुरू कर दिया। पड़ोसन को पूरा मजा आने लगा और वो सेक्सी आवाजे भी निकालने लगी। 

देखते ही देखते उसका ब्लाउज अंदर से गीला होने लगा तो मुझे पता लगा की ईशा के स्तनों से दूध भी निकलता है। 

मेरे हाथो से हल्का सा दबाने पर ही ईशा के थन दूध निकालने लगेऔर उसका टाइट ब्लाउज पूरा गिला हो गया। ये सब देख मेरी आंखे फटी रह गई और लंड दर्द करने लगा।  

तो दोस्तों ये थी मेरी lockdown me chudai ki kahani अगर आपको पसंद आई तो मेरी कहानी का तीसरा भाग नीचे क्लिक कर के पढ़े।   

लॉकडाउन में चुदाई की कहानी भाग 3

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts