| | | |

दोस्त के साथ रंडी की चुदाई

अपने दोस्त के साथ मैंने रंडी की गांड चुत को खूब चोदा। मेरा नाम है अंशुल और मैंने अपने दोस्त शुभम के साथ एक लड़की की जबरदस्त चुदाई की। मैंने आज से पहली कभी चुदाई नहीं की थी और न ही मेरी कोई गर्लफ्रेंड थी इसलिए मैंने दोस्त के साथ रंडी की चुदाई की और अपनी वासना को शांत किया। 

मैं और मेरा दोस्त कई बार लड़िया पटाने की न काम कोशिश कर चुके है इसलिए हमने साथ मिलके ये सच्चा की बस 800 रुपए वाली लड़की बुलाएंगे और उसे चोद कर असली चुदाई का आनंद लगे। 

तो दोस्तों मैं अपने दोस्त के साथ चला गया रंडी ढूंढने। हम रेड लाइट एरिया पर गए जहा हर रात चुदाई के लिए औरते खड़ी होती थी। वह हमने सबसे जबरदस्त और माल वाली लड़की उठाई जो करीब 1000 रुपए एक रात के ले रही थी। 

वो वहा खड़ी सबसे जवान और सेक्सी रंडी थी पर उसका चेहरा कुछ अच्छा नहीं था। पर उस से हमे कोई लेना देना नहीं था हमने तो बस बड़े स्तन और मोटी नरम गांड के साथ पतली कमर चाहिए थी। 

उस लड़की को हम शाम 5 बजे लेकर होटल के कमरे में चले गए। उस लड़की ने टाइट जीन्स और टॉप पहना था मेरा दोस्त शुभम उसके स्तन देखे ही जा रहा था। 

तभी रंडी ने मुझे कहा ” अबे तेरा दोस्त केसा सा है कभी थन नहीं देखे क्या !!! “

शुभम – नहीं इतने बड़े और करीब से तो नहीं देखे !!

उस लड़की ने अजीब सा मुँह बनाया जैसे वो ये हर दिन सुनती हो उसके बाद उसने अपना टॉप उतार दिया। 

हम तीनो कमरे में एक साथ थे और मेरे पास चार कंडोम भी थे। 

लड़की के कोमल स्तन देख शुभम की आंखे फटी रह गई और मेरा लंड खड़ा होने लगा। 

उस लड़की ने शुभम का सर अपने दोनों हाथो से पकड़ा और उसे अपनी नरम छाती के बीच दबाने लगी। 

शुभम उसके उसके स्तनों के बीच अपना मुँह देखर उसकी छाती चूमने लगा तो मैंने पीछे से उस लड़की की पिंक ब्रा को खोल दिया। 

ब्रा खुलते ही नीचे गिर गई और शुभम अपने दोनों हाथो से उसके स्तन दबाने लगा। 

बस ऐसा करते करते वो आनंद लेने लगा। मैं अपनी पैंट की जीप खोला और अपना शुका लंड निकाल कर उस लड़की के हाथ में थमा दिया। 

वो लड़की अपने बड़े बड़े नाखुनो वाले हाथ से मेरा सूखा लंड हिलाने लगी और मैं उसकी टाइट जीन्स में हाथ डाल कर उसकी नरम गांड और चुत को छेड़ने लगा। 

दोस्तों अगर आपके अंदर भी काफी Antarvasna है तो गर्लफ्रेंड के चक्कर में मत पड़ना बस दो तीन हजार फेकना और अपनी चुदाई की इच्छा पूरी करना। 

वो लड़की मेरी तरफ देख और प्यार से मेरे होठो पर चूमने लगी। मैंने कीच देर उसे किस किया और कहा ” तुम लड़किया तो बस सेक्स के लिए हाँ बोलती हो और किस के लिए तो मना कर देती हो तो फिर मुझे क्यों ? “

रंडी – बस तुम्हारे लिए क्यों की मेरा मन था !!

ये सुनकर शुभम ने उसके स्तन चूसना बंद किया और उस लड़की की गर्दन पर हाथ रख कर उसे चूमने के लिए आगे बड़ा तभी उस लड़की ने उस धका दे दिया और कहा ” मैंने कहा बस तुम्हरे दोस्तों अंशुल के लिए !! “

शुभम गुसे में बोला ” साली रंडी लंड चूस मेरा !!! ” शुभम ने गुसे में जल्दी जल्दी अपनी पूरी पैंट उतरी और उस लड़की को जल्दी जल्दी लंड चुसवाने लगा। 

मैं समज नहीं पा रहा की वो ये सब गुसे में कर रहा है या वो काफी ज्यादा उत्साहित है। 

वो उस लड़की में मुँह को तेजी से चोदने लगा और वो लड़की घोड़ी बनकर अपने मुँह में लंड लेती रही और खास्ती भी रही। अब मेरा काम उनको देखना तो था नहीं मैं पीछे गया और उस लड़की की जीन्स कच्छी उतार कर उसकी चुत में ऊँगली करने लगा। 

मैंने पहली बार किसी लड़की का भोसड़ा देखा था इसलिए मैं बार बार उसे खोल खोल कर देख रहा था। वो रंडी थी इसलिए उसका भोसड़ा काला और बड़ा था उसे मैं देख हैरान हो रहा था। 

मेरी एक उनलगी तो क्या उसमे मेरा पूरा हाथ जा सकता था। धीरे धीरे वो लड़की गर्म हो रही थी वो उसकी चुत से रस भी टपकने लगा था। 

मैंने उसमे अपनी तीन उंगलिया डाली और उन्हें अंदर बाहर करने लगा। अंदर से वो काफी गर्म और लसलसी थी। 

कुछ देर बाद शुभम अपनी कमर हिला हिला कर तक गया तो वो बिस्तर पर लेटा रहा वो लड़की खुद उसका लंड चुस्ती रही और जान कर उसके गोटो को जोर से दबा और चूस भी रही थी। 

कुछ देर बाद शुभम बोला  ” अबे इंसान हूँ थोड़ा प्यार से चूस !! “

 अब इतना कड़वा सुने के बाद वो लड़की भी शुभम के लंड पर गुसा निकाल रही थी। 

उसके बाद उस लड़की ने मुझे पलट कर देखा और अपनी गांड अपने हाथो से फैला कर मेरे लंड को देखने लगी। 

मैं जल्दी से अपनी जेब से कंडोम निकाला और उसे अपने लंड कर लगाने लगा तो उस लड़की ने कंडोम लेकर कमरे के कोने में फेक दिया और बोली ऐसे ही करो तुम्हे अच्छा लगेगा। 

मैं अपने दोस्त की तरफ देखा और वो बोला ” अबे मत मान इसकी बात बीमारी हो जाएगी तेरे को !! “

वो लड़की बोली ” अगर मुझे बीमारी होती न तो तेरा लंड लेती मैं इसका नहीं !! “

चलो ये भी उस लड़की ने ठीक कहा मैं अपना लंड नीचे से दबा कर पकड़ा ताकि ऊपर से वो वो कड़क हो जाए। 

लंड पकड़ कर मैंने उस रंडी की चुत में अपना लंड दे दिया।   

दोस्तों लंड अंदर जाते ही जो एहसास मुझे हुआ न वो मैं शब्दों में बता नहीं सकता। वो लड़की भी सेक्सी महसूस करने लगी और हॉट हॉट आवाजे करने लगी। 

मेरा दोस्त वहा लेटा बस हम दोनो को देखने लगा और लड़की उसका लंड हल्के हाथ से हिलाती रही। 

मैं कुछ देर तक उसका भोसड़ा चोदता रहा और उसकी काली चुत से अपनी बिस्तर पर टपकने लगा। 

मेरे दोस्त ने उस लड़की से स्तनों के बीच से अपना हाथ निकाला और उसकी चुत पर अपनी उनलगी गोल गोल घुमाने लगा जिस से वो लड़की कापने लगी और चुदाई का असली आनंद लेने लगी। 

थोड़ी देर बाद दोस्तों ने कहा ” अबे भाई मैं भी हूँ मुझे भी लेने दे !! “

वो लड़की आगे बड़ी और मेरे दोस्त के लंड को अपनी चुत में लेकर उसके ऊपर लेट गई पीछे से मैं आया और उसकी गांड में अपना लंड डालने लगा। 

लड़की ने जैसे ही मेरा टोपा अंदर लिया वो उसे दर्द होने लगा और वो अपनी आवाज दबाने लगी। 

उस बेचारी का दर्द देख मैंने अपना लंड बाहर निकाल दिया तो वो बोली ” क्या हुआ डालो ना !! “

मैं फिरसे उसके अंदर अपना लंड डाला और हम दो दोस्त उस रंडी को चोद चोद होटल का पलंग हिलाने लगे।  

हम बरी बरी से गांड चोद रहे थे जब मैं उसके गांड में लंड देता तो मेरा दोस्त उसकी चुत से निकालता और जब वो चुत में देता तो मैं निकालता। 

वो लड़की मेरे दोस्त की छाती पर अपना सर रख कर सेक्सी आवाजे निकालती रही। 

कुछ देर बाद मैंने उसे उठाया और उसकी गर्दन एक हाथ से दबोच कर उसके कान पर चूमने लगा और दूसरे हाथ से उसके स्तनों को हल्के हल्के चाटे मारने लगा। 

कुछ देर बाद शुभम का निकल गया और उसने अपना लंड बाहर निकाल कर कंडोम पर गाठ मारी और उसे कचरे में फेक दिया। 

पर दोस्तों मैं उतनी तेजी में ही लड़की को चोदता रहा और शुभम दूर बैठ कर मुझे देखता रहा। 

उस लड़की के स्तन मुझे आज भी याद है की वो कैसे उछाल रही थे। मैं उन्हें कभी दबा रहा था कभी उछाल रहा था तो कभी चूस रहा था। 

कुछ देर बाद जब मुझे लगा की अब मेरा निकलने वाला है तो मैंने अपना लंड निकाला और उस लड़की के साथ लेट गया। 

वो लड़की मेरी छाती पर अपनी लिपस्टिक के निशान बनाने लगी और मेरे लंड को जोर जोर से हिलाने लगी। 

साथ ही मौका देख मैंने भी हाथ आगे बढ़ाया और उसकी चुत को सहलाने लगा और अगले ही पर मेरे लंड से सफ़ेद पानी उछाल उछाल कर निकलने लगा। 

तभी वो लड़की भी अपनी चुत से मलाई निकलाने लगी। 

हम दोनों का एक साथ झडा वो शुभम को काफी सेक्सी लगा। 

इतना सेक्सी नजारा देख शुभम का लंड फिर खड़ा हो गया और वो लड़की को दोबारा छोड़ने के लिए आगे बड़ा तो उस लड़की ने मना कर दिया। 

शुभम गुसे में बोला साली ये ले और पैसे और अब मेरा लंड ले !!

पर उस लड़की ने फिर मना कर दिया और शुभम गुसे में वहा से चला गया। तो दोस्तों इस तरह मैंने अपने एक पुराने दोस्त के साथ एक रात बिताई। 

उस रंडी को मैं पसंद था इसलिए वो ये सब कर रही थी। शुभम के जाने के बाद वो मुझे गले लगा कर मेरे साथ ही लेटी रही और मुझे प्यार से देखने लगी। 

और अंत में जाते जाते उसने मेरा नंबर भी लिया था। 

तो बस यारो ये थी मेरी हॉट हिंदी कहानी दोस्त के साथ रंडी की चुदाई। आगे अच्छी लगी तो जरूर बताना। 

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts