| | |

रंडीबाज पड़ोसी

पड़ोसी शराबी और रंडी बज हो तो हर अगले दिन कुछ नया देखने को मिलता है। पर ये सिर्फ लड़को के लिए मजे की बात है। साथियों मेरा नाम शिवानी है और मैं अपनी कहानी सुनाने जा रही हूँ। ये कहानी मेरे रंडीबाज पड़ोसी की है जो हर दिन कोई न कोई रांड बुला कर ले आता था। 

आप लड़के लोग को अगर मेरी कहानी पंस आए तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करने। मैंने जो अश्लीलता और चुदाई देखी वो सब मैंने इस Hindi Sex Story में बताने की पूरी कोशिश की है। 

मेरा नाम शिवानी है और मैं 23 साल की लड़की हूँ। अपने बारे में मैं बस आप सभी को इतना ही बताना चाहती हूँ। इसके अलावा मैं लखनऊ में रहती हूँ। मुझे सेक्स काफी पसंद है पर अगर मर्द शराबी और बत्तमीज हो तो मुझ दूर भाग जाने का मन करता है। 

कुछ ऐसा ही मेरा रंडीबाज पड़ोसी है। उसे दूर दूर के लोग और यहाँ तक की बच्चे भी रंडीबाज बोलते है। वो शराबी और 2 नंबर का काम करने वाला 31 साल का आदमी था। 

वो करीब 3 साल पहले ही हमारे यहाँ माकन ख़रीदा था और तब से यहाँ अकेला रह रहा है। हमे उसके बारे में कुछ पता नहीं था और जाना भी नहीं था। 

वो मुझे हवसी इरादों से देखा था और उसकी कुतो जैसी नजर सिर्फ मेरी छाती और जांघो पर ही होती थी। 

काफी बार पूरी गाली ने उसे झाड़ा धमकाया पर उसने अपनी हरकते बंद नहीं की। धीरे धीरे उसने शारब पीना तो बंद कर दी लेकिन रंडीबाजी नहीं रोकी। 

वो हर हफ्ते रात को अपनी खटारा गाड़ी में किसी न किसी लड़की को साथ लाता और उसके साथ जमकर सेक्स करता।  

उसके बाद पता नहीं क्यों उसने चुदाई हर दिन शुरू कर दी। वो हर अगले दिन कोई सस्ती छमिया उठा लाता और उसकी चुदाई करता। इसी तरह उसने एक दिन घर पर सेक्सी रंडी बुला कर चोदी। वो लड़की जब आधी रात को घर से बाहर निकली तो उसके बाल, कपडे, लिपस्टिक सब खराब हो रखे थे। 

उसे देख मेरी चुत से पानी टपकने लगा क्यों की अंदर ही अंदर मेरा जवान 23 साल का शरीर भी तो इसी तरह का जबरदस्त सेक्स मांगता है। 

अगले दिन एक दूसरी लड़की हमारी गली में आई और वो हमारे रंडीबाज पड़ोसी का घर पूछने लगी। वो लड़की बड़ी सुंदर थी और मुझे उसे देख जलन होने लगी। उसके स्तन पुरे गोल और मुझे से मोटे थे साथ ही सेक्सी टाइट जीन्स में भरी भरी जाँघे और पतली कमर। देख के ऐसा लग रहा था की हमारे रंडीबाज पड़ोसी ने अपनी औकात से कही ज्यादा महंगी लड़की आज चोदने के लिए बुलाई है। 

वो लड़की करीब शाम 7 बजे उसके घर के अंदर गई और रात के 11 बजे तक उसके घर से नाच गानो की आवाज आती रही। 

हमारा परिवार बड़ा था इसलिए मैं अपने छोटे भाई के साथ छत वाले कमरे में सोया करती थी। अचानक रत के 11 बजे काने बंद हो गए। मैं सोती रही और मेरा भाई भी सोता रहा। 

रात 1 बजे मैं पानी पिने के लिए उठी तो मुझे हल्की हल्की झापडो की आवाज आने लगी और अपने पड़ोसी की गालिया भी सुनाई देने लगी। 

वो आवाजे काफी सेक्सी थी इसलिए मेरी चुत में खुजली होने लगी और मैं ये सोचने लगी की आखिर उस लड़की के साथ हो क्या रहा होगा। 

मैं कमरे से उठी और छत पर पड़ी लकड़ की सीढ़ी लगा कर अपने पड़ोसी की छत पर चढ़ गई। 

अब वो शराबी है तो उसे कहा यद् रहता होगा की उसने क्या चीज कहा राखी है। वो लापरवाह था इसलिए उसके छत का दरवाजा खुला था। 

अपनी चुत के सुख और चुदाई देखें के लिए मैंने हिमत जुटाई और छत के जरवाजे से नीचे चली गई।  

मैंने कोने से छुप कर देखा तो मेरा रंडीबाज पड़ोसी उस लड़की की चटाई पर चुदाई कर रहा था। 

लड़की उसकी तरफ गांड कर के लेटी थी और वो उसे पीछे से अपनी बाहो में जकड़ कर उसके गले पर चूमता हुआ उसकी चुत गांड चोद रहा था। चटाई के ब्लग में एक दारू का ग्लास और थोड़ा नमकीन भी था। 

ऐसा माहौल देख मैं डर गई और अपने कदम पीछे बढ़ाने लगी तभी। तभी मेरा पडोसी तेजी से अपनी कमर हिला कर उस लड़की चुत को चोदने लगा और सेक्सी हॉट आवाज निकालने लगा। 

ऊपर से उस लड़की की गांड पर पड़ने वाले गोटो के थपड़ेतो से मेरी चुत नम होने लगी। वो लड़की किसी तरह अपना मुँह दबा कर उसकी चुदाई सेहती रही। 

मेरा पडोसी बार बार उसके थान अपने हाथो से नोच कर उस लड़की को दर्द दे रहा था। वो बार बार अपने हाथो से कभी उसके थान नोचता तो कभी उसकी गोरी जांघो पर हाथ फेरता। 

लड़की के पुरे शरीर पर लाल निशान थे जो काफी सेक्सी लग रहे थे। मैं वहा खड़ी आँखे फाड़ कर उनकी चुदाई देखती रही और अपनी जांघो को अपनस में रगड़ने लगी। 

वो लड़की को चोद चोद कर जब तक जाता तो बीच के रुक एक घूंट शराब की मार लेता। वो लड़की कामुक आवाज निकालते हुए उसे डर डर कर देखती और एक पल चैन की सांस लेने की भीख मांगती पर मेरा पडोसी उसकी बात अनसुनी कर अपनी कमर हिलानी चालू कर देता। 

उस लड़की को मजा तो पूरा आ रहा था पर गांड पर जोर दार चुदाई से उसे दर्द भी हो रहा था। चटाई पर चोदते चोदते उसने रंडी की टांग उठाई और उसे चोदने लगा। 

मैं बाहर कड़ी कोने से उस लड़की की सेक्सी गीली चुत में लंड घुसता देखती रही और अपने पजामे में हाथ डाल कर अपनी छूट सहलाती रही। 

साथ ही मैंने अपना फ़ोन निकाला और उसकी वीडियो बनाने लगी तभी बाद में उसे देख मैं हस्तमैथुन कर सकू। 

उसके बाद उसने लड़की की आँखों पर कपड़ा बंधा और उसे घोड़ी बना कर उसकी गांड में अपना मुँह देने लगा। मुझे समज नहीं आता की मर्दो की ऐसा गंदा काम करने में क्या आनंद आता है। 

खेर काम तो गंदा है ही पर मन ही मन हर लड़की को ये काम सेक्सी लगता है। पड़ोसी अपना लंड हिलाता हुआ उसकी चुत गांड के छेद को चाटने लगा और मैं बाहर कड़ी उसे ऐसा करता देखती रही। 

चाटने के बाद वो अपने घुटनो पर खड़ा हुआ और उसकी लड़की की गांड पर थूक कर उसमे लंड घुसा दिया। 

बस इसी तरह वो उसे चोदता रहा और मैं उसे देख अपनी चुत में उनलगी करती रही। 

उसने उस लड़की को चटाई पर बार बार जोर जोर से पता नहीं कैसे कैसे चोदा। चुदाई करते करते रात के 2 बज गए और मेरे पड़ोसी ने अपना लंड उसकी सेक्सी कमर पर झाड़ दिया। 

इस तरह उस लड़की को आराम करने का मौका मिला। पर जिस जयदा देर नहीं चला। 

पड़ोसी का लंड दोबारा उठ खड़ा हुआ और वो लड़की दोबारा उसका लंड लेने लगी। 

मेरे पड़ोसी ने उसके स्तन मशीन की तरह चूसे और उसकी गांड चुत घोड़े की तरह चोदे।

पूरी रात उसे बार बार झड़ने के बाद भी उस लड़की को चटाई पर अलग अलग तरह से चोदा। 

सुबह के 4 बज गए जब मेरी चुत से अचानक रस निकल गया और मैं थक हार कर वही बैठ गई। चुदाई करते करते आधे घंटे में ही मेरा पडोसी भी रुक गया और उस लड़की के गले लग कर वही सो गया। 

मैं वापस उठी और अपने घर जाकर चुत से रस साफ करने के बाद अपने कमरे में सोने चली गई। 

दोस्तों वो रात मेरे लिए आज तक की सबसे ज्यादा सेक्सी रात थी। उसके बाद भी मैंने जो उसकी वीडियो बनाई थी उसे देख कर भी मैंने दिन में कई बार मुट्ठी मरी और अपनी चुत का रस खून की तरह बहाया। 

बस ये थी मेरी कहानी रंडीबाज पड़ोसी अगर आपको जरा सी भी अच्छी लगी तो मुझे मेल जरूर भेजना क्यों की अगर आपको मेरी Crazy Sex Kahani पसंद आई तो इस वेबसाइट पर अपनी कहानी लेकर आपके सामने जरूर पेश होऊगी। 

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts